उत्तर प्रदेशराज्य

SCने स्वार सीट पर उपचुनाव कराने के हाईकोर्ट के आदेश पर लगाई रोक

    मेरठ
सुप्रीम कोर्ट से समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान को बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट के उस आदेश पर रोक लगा दी गई, जिसके तहत वेस्ट यूपी के रामपुर की स्वार सीट पर विधानसभा उपचुनाव कराने का निर्देश दिया गया था। दरअसल स्वार विधानसभा सीट से विधायक अब्दुल्ला आजम को अयोग्य घोषित किया गया था, जिसके कारण यह सीट खाली हुई थी।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सांसद आजम खान के बेटे और रामपुर की स्वार सीट से विधायक अब्दुल्ला आजम की विधायकी 25 साल से कम उम्र होने की वजह से रद्द कर दी थी। इस फैसले के खिलाफ उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार रहे (अब कांग्रेसी) नवाब काजिम अली ने अब्दुल्ला के चुनाव के खिलाफ अर्जी दाखिल की थी। अब्दुल्ला पर जन्म प्रमाण पत्र दो होने और फर्जी दस्तावेजों की मदद से चुनाव लड़ने का आरोप लगाया था।

हाईकोर्ट ने दिया था चुनाव कराने का आदेश
हाईकोर्ट ने यह कहते हुए अब्दुल्ला आजम खान की विधायकी रद्द कर कर दी थी कि साल 2017 में उनकी उम्र चुनाव लड़ने की तय उम्र से कम थी। फिलहाल हाईकोर्ट ने एक आदेश देकर स्वार सीट पर तुरंत उपचुनाव कराने की प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दिए थे। अब्दुल्ला इस आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट चले गए गए थे। जिस पर फिलहाल अंतिरम रोक लगा दी गई है।

स्वार मामले में लगेगा वक्त
दरअसल, यूपी में कुल आठ विधानसभा सीट खाली थी। इसमें एक स्वार थी। बाकी सात पर तीन नवंबर को ही वोटिंग हुई है। दस नवंबर को काउंटिंग होगी। स्वार का मामला कोर्ट में होने के कारण यहां चुनाव नहीं हो का है, लेकिन कानून के जानकार मान रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट से हाईकोर्ट के चुनाव कराने के आदेश पर अंतरिम रोक लगाए जाने से अब यह केस फाइनल होने में वक्त लेगा और उपचुनाव होने में भी समय लगना तय है।

स्वार सीट से ये हैं दावेदार
वैसे इस स्वार सीट पर कांग्रेस ने नवाब काजिम के बेटे हमजा को और कांग्रेस ने वहां की नगरपालिका चेयरमैन के पति को कैडिडेट घोषित कर रखा है। एसपी से जिसे आजम चाहेंगे वह लड़ेंगे और बीजेपी से आजम के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ने वाले आकाश सक्सैना का नाम लिया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button