मध्य प्रदेशराज्य

PDS खाद्यान की कालाबाजारी के रास्ते बंद, एम-राशन मित्र रोकेगा सेल्समैनों की मनमानी

भोपाल
राजधानी सहित प्रदेशभर के  पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सप्लाई यानि पीडीएस के अंतर्गत वितरण किए जाने वाले खाद्यान पर सेल्समैनों की मनमानी खत्म करने डिजिटल सिस्टम को और पारदर्शी बनाया जा रहा है। सेल्समैनों द्वारा की जा रही खाद्यान की कालाबाजारी के सभी रास्ते बंद किए जा रहे हैं। खाद्य नागरिक अपूर्ति विभाग के द्वारा मोबाइल बेस्ड एम-राशन मित्र नामक एप इसके लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो रहा है। इस एप के माध्यम से कोई भी उपभोक्ता समग्र आईडी के जरिए कभी भी-कहीं से भी खुद का राशन एवं दुकान को आवंटन किए गए राशन की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सक ता। साथ ही दुकान के स्थान व सेल्समैन की भी जानकारी डैशबोर्ड के जरिए प्राप्त कर सकता है। धांधली होने पर वह सीधे इसकी शिकायत खाद्य्य विभाग से कर सकता है।

गौरतलब है कि गरीबों के राशन पर सेल्समैनों द्वारा की जाने वाली कालाबाजारी किसी से छिपी नहीं है। वे विविध प्रकार हथकंडे अपना कर पीडीएस उपभोक्ताओं का राशन हजम कर जाते थे। जिससे उपभोक्ताओं को मिलने वाला उनके हक का राशन नहीं नियमित रूप से नहीं मिल पाता था। वहीं,मात्रा में भी कटौती की जाती थी। खद्यान पर्ची के लिए भटकना पड़ता था।  अब जिले भर के करीब 4 लाख 14 हजार उपभोक्ता मोबाइल एप के जरिए 447 दुकानों की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। इसके अलावा अन्य जिलों की भी जानकारी इसके  जरिए मिल सकेगी। साथ ही खाद्यान पर्ची भी डाउनलोड की जा सकती है।

बीपीएल कार्ड धारक,रिक्शा-आटो चालक,हाथ ठेला चालक,घूमक्कड़ मजदूर,विकलांग व्यक्ति,कामकाजी महिलाएं,सनिर्माण कर्मकार मंडल,वनाधिकार पट्टेवाले,रेलवे के कुली,मंंडियों के हम्माल व तुलावटी,वीड़ी श्रमिक,भूमिहीन कोटवार,केश शिल्पी एवं बाढ़ व अन्य आपदा से पीड़ित व्यक्ति आदि उपभोक्ता इसके जरिए अपने राशन की जानकारी हासिल कर सकेगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button