अंतरराष्ट्रीय

PAK ने माना, मुंबई हमले में उसकी जमीन से आए आतंकियों ने मचाई थी तबाही

नई दिल्ली 
पाकिस्तान ने आखिरकार मान लिया है कि मुंबई आतंकी हमले में उसकी जमीन का इस्तेमाल हुआ था और वहां से ही आए आतंकियों ने तबाही मचाई थी। पाकिस्तान की ओर से एक लिस्ट जारी की गई है, जिसमें एक दर्जन से अधिक ऐसे आतंकियों के नाम हैं जिनका सीधा संबंध 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले से था। पाकिस्तान की फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ने देश के मोस्ट वांटेड आतंकियों की सूची जारी की है। इस सूची में करीब 19 नाम ऐसे हैं जिनका संबंध मुंबई आतंकी हमले से बताया गया है।  सूची में लश्कर-ए-तैयबा के कई आतंकियों का नाम दिया गया है। इसमें इफ्तिकार अली, मोहम्मद अमजद खान, मोहम्मद उस्मान, अब्दुल रहमान समेत अन्य आतंकियों के नाम हैं। पाकिस्तान ने कबूल कर लिया है कि मुंबई आतंकी हमले की प्लानिंग और फंडिंग पाकिस्तान से ही हुई थी। पाकिस्तान द्वारा जारी इस लिस्ट में उन लोगों के नाम भी दिए गए हैं, जिन्होंने आतंकियों के लिए मोटर बोट, लाइफ जैकेट समेत अन्य सामान खरीदा था और कराची से लेकर मुंबई तक आने का इंतजाम किया था।

26 नवंबर 2008 को समुद्री रास्ते से आए कुछ आतंकियों ने मुंबई में हमला किया था, इस दौरान रेलवे स्टेशन, ताज होटल समेत कुछ अन्य जगहों को आतंकियों ने अपना निशाना बनाया था। इस आतंकी हमले में 160 से अधिक लोगों की जान गई थी। ये पूरा आतंकी हमला करीब तीन दिन तक चला था, जिसमें एक आतंकी जिंदा पकड़ा गया था। जिंदा आतंकी कसाब को बाद में फांसी दी गई थी। भारत की ओर से तब से लेकर अबतक कई मौकों पर मुंबई हमले के सबूत दिए जा चुके हैं, जिसमें पाकिस्तान का हाथ साफ दिखाई पड़ता है। लेकिन पाकिस्तान इससे इनकार करता रहा है। मुंबई हमला ही नहीं बल्कि उरी, पुलवामा, पठानकोट समेत अन्य कई जगहों पर हुए आतंकी हमले को लेकर भारत सबूत सौंप चुका है लेकिन पाकिस्तान सबूतों को मानने से इनकार करता रहा है।  सूची में 26/11 हमलों को लेकर जानकारी दी गई है कि ताज में हुए आतंकी हमले को अंजाम देने वाली नाव में 9 क्रू मेंबर्स थे। इनके नाम हैं साहिवाल जिले के मोहम्मद उस्मान, लाहौर जिले के अतीक-उर-रहमान, हाफिजाबाद के रियाज अहमद, गुजरांवाला जिले के मुहम्मद मुश्ताक, डेरा गाजीपुर जिले के मुहम्मद नईम, सरगोधा जिले के अब्दुल शकूर, मुल्तान के मुहम्मद साबिर, लोधरान जिले का मोहम्मद उस्मान, रहीम यार खान जिले के शकील अहमद है। इन सभी का नाम संयुक्त राष्ट्र द्वारा सूचीबद्ध किए गए आतंकी ग्रुप में शामिल हैं जो कि लश्कर ए तैय्यबा के आतंकी हैं।

भारत कार्रवाई के लिए दबाव बनाएगा 
पाकिस्तान की स्वीकारोक्ति के बाद भारत इन सभी पर कार्रवाई के लिए दबाव भी बनाएगा। अमूमन पाकिस्तान ठोस कार्रवाई के नाम पर आंख में धूल झोंकता रहा है। सूत्रों ने कहा भारत कई बार पाकिस्तान को ठोस सबूत दे चुका है लेकिन वह बार बार कार्रवाई से मुकरता रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button