खेल

IPL 2020 : MI vs DC: क्या चैंपियन बन सकती है मुंबई इंडियंस!

नई दिल्ली
आईपीएल 2020 (IPL 2020) के फाइनल मैच में चार बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) की भिड़ंत दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) की टीम से होगी। मुंबई ने छठी बार इंडियन प्रीमियर लीग के फाइनल में जगह बनाई है, जबकि दिल्ली पहली दफा इस लीग को जीतने के इतनी करीब पहुंची है। श्रेयस अय्यर की कप्तानी वाली टीम ने दूसरे क्वॉलिफायर मैच में सनराइजर्स हैदराबाद को हराकर फाइनल का अपना टिकट कटवााया है, जबकि मुंबई ने पहले क्वॉलिफायर में दिल्ली कैपिटल्स को ही शिकस्त देकर फाइनल में प्रवेश किया है। रोहित एंड कंपनी ने इस पूरे टूर्नामेंट में बाकी टीमों को डोमिनेट किया है और टीम पांचवीं बार इस ट्रॉफी को अपने नाम करने की प्रबल दावेदार नजर आ रही है। आइए जानते हैं वो पांच कारण जिनके चलते मुंबई इंडियंस दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ होने वाले फाइनल मैच में इस खिताब को जीतने के लिए फेवरेट है।

1. दमदार टॉप ऑर्डर
मुंबई इंडियंस बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही विभाग में इस सीजन पूरी तरह से बैलेंस नजर आ रही है। मुंबई के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों ने आईपीएल 2020 में लाजवाब प्रदर्शन किया है। क्विंटन डिकॉक और सूर्यकुमार यादव के बल्ले से लगातार रन निकले है। सूर्यकुमार ने मुंबई को आईपीएल 2020 में कई मैचों में मुश्किल हालातों से निकालकर जीत दिलाई है। डिकॉक ने अबतक खेले 15 मैचों में 483 रन बनाए हैं, जबकि सूर्यकुमार इतने ही मैचों में 461 रन बना चुके हैं। और अगर ऐसे में पिछले मैचों में खामोश रहा कप्तान रोहित शर्मा का बल्ला चला पड़ा, तो दिल्ली के गेंदबाजों की फाइनल में खैर नहीं है।

2. सूर्यकुमार यादव और ईशान किशन बिगाड़ सकते हैं दिल्ली का खेल
सूर्यकुमार यादव और ईशान किशन ने मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल 2020 में कई यादगार पारियां खेली हैं। दोनों ही बल्लेबाज इस सीजन 400 से ऊपर रन बना चुके हैं और खास बात यह है कि दबाव की स्थिती में रनगति को कैसे संभालना है यह दोनों ही बल्लेबाज बखूबी जानते हैं। मैच को चलाने और आखिरी के ओवरों में बड़े शॉट्स लगाने की काबिलियत के चलते यह दोनों ही बल्लेबाज फाइनल मैच में अहम रोल अदा कर सकते हैं।

3. हार्दिक पांड्या और पोलार्ड का तूफानी अंदाज
मुंबई के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों ने जहां टीम को इस सीजन अच्छी शुरुआत दी है, तो आखिरी के ओवरों में हार्दिक पांड्या और पोलार्ड ने तूफानी अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए टीम को बड़े टोटल तक पहुंचाया है। पहले क्वॉलिफायर मैच में भी वो हार्दिक की थे, जिन्होंने दिल्ली से डेथ ओेवरों में मैच छीन लिया था। हार्दिक ने उस मैच में 14 गेंदों में 27 रन की आतिशी पारी खेली थी और इस सीजन उनका स्ट्राइक रेट 182.89 का रहा है, जो बताने के लिए काफी है कि वो फाइनल मैच में कितनी बड़ी भूमिका अदा करने वाले हैं।

4. बूम-बूम बुमराह
मुंबई के बल्लेबाज अगर स्कोर बोर्ड पर रन लगाते हैं, तो टीम के गेंदबाज सामने वाली टीमों के बल्लेबाजों के चेस मुश्किल करने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। जसप्रीत बुमराह मुंबई की तरफ वो गेंदबाज हैं, जो फाइनल में अकेले दम पर दिल्ली की बल्लेबाजी को तहस-नहस कर सकते हैं। पहले क्वॉलिफायर में बुमराह ने दिल्ली के खिलाफ चार ओवर में सिर्फ 14 रन देकर 4 विकेट अपने नाम भी की थी, जबकि पिछले 3 मैचों में वो 10 विकेट अपने नाम कर चुके हैं।

5. रोहित और ट्रेंट बोल्ट साबित होंगे एक्स फैक्टर
भले ही इस फाइनल मैच में हर किसी की निगाहें मुंबई इंडियंस की तरफ से जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या जैसे खिलाड़ियों पर टिकी होगी, लेकिन रोहित शर्मा और ट्रेंट बोल्ट इस बड़े मैच में महफिल लौट सकते हैं। रोहित का बल्ला जरूर इस पूरे टूर्नामेंट में खामोश रहा हो, पर अपना दिन होने पर वो किसी भी मैच को एकतरफा करने की ताकत रहते हैं। ट्रेंट बोल्ट गेंद से जसप्रीत बुमराह के साथ काफी प्रभावशाली रहे हैं, उन्होंने पहले क्वॉलिफायर मैच में दिल्ली के टॉप ऑर्डर में सेंध लगाई थी। ऐसे में अगर रोहित का बल्ला और बोल्ट की लहराती गेंदों ने अपनी रफ्तार पकड़ी, तो दिल्ली का इस ट्रॉफी को पहली बार जीतने का सपना महज सपना ही बनकर रह जाएगा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button