Home देश AP और UP की सोने की खदान भरेंगी देश का खजाना

AP और UP की सोने की खदान भरेंगी देश का खजाना

53
0

नई दिल्ली
 सरकार सोने की खदानों की बिक्री (Gold Mine Auction) की तैयारी कर रही है। सरकार इस महीने आंध्र प्रदेश और उत्तर प्रदेश की 13 सोना खदानों की नीलामी करेगी। इससे देश की जीडीपी (GDP) में खनन क्षेत्र के योगदान को बढ़ावा मिलेगा। आधिकारिक जानकारी के अनुसार, आंध्र प्रदेश के 10 ब्लॉकों में से पांच की नीलामी 26 अगस्त को हो सकती है। वहीं, शेष पांच की नीलामी 29 अगस्त को होने की संभावना है। उत्तर प्रदेश की तीन खदानों की भी नीलामी होनी है। नीलामी से मिले राजस्व का एक अच्छा हिस्सा राज्यों को मिलता है।

आंध्र प्रदेश की इन खदानों की होगी नीलामी
आंध्र प्रदेश में सोने की खदानों (Gold Mines in Andhra Pradesh) में रामगिरी नॉर्थ ब्लॉक, बोक्समपल्ली नॉर्थ ब्लॉक, बोक्समपल्ली साउथ ब्लॉक, जवाकुला-ए ब्लॉक, जवाकुला-बी ब्लॉक, जवाकुला-सी ब्लॉक, जवाकुला-डी ब्लॉक, जवाकुला-ई ब्लॉक, जवाकुला-एफ ब्लॉक शामिल हैं। इन सोने की खदानों के लिए निविदा नोटिस मार्च में निकाला गया था।

उत्तर प्रदेश की तीन खदानें भी हैं शामिल
उत्तर प्रदेश में शेष तीन सोने की खदानों की नीलामी इसी माह होगी। लेकिन अभी इसके लिए कोई तारीख नहीं दी गई है। राज्य की तीन में से दो सोने की खदानें सोनभद्र में हैं। उत्तर प्रदेश में इन तीनों सोने की खदानों के लिए निविदा 21 मई को निकाली गई थी।

पिछले साल 45 खनिज ब्लॉकों को बिक्री के लिए रखा
पिछले वित्त वर्ष में 45 खनिज ब्लॉकों को बिक्री के लिए रखा गया था। सरकार ने मई में कहा था कि देश में खनिज ब्लॉकों की नीलामी स्थिर हो गई है। राज्यों ने चार अगस्त को 199 खनिज ब्लॉकों की नीलामी की थी। नीलामी के माध्यम से खनिज ब्लॉकों का आवंटन 2015 में खनन अधिनियम में संशोधन के बाद शुरू हुआ।

राज्यों को मिल रहा काफी पैसा
केंद्र ने कहा था कि राज्य सरकारों को नीलामी से राजस्व का एक अच्छा हिस्सा मिल रहा है। खान मंत्रालय ने पहले कहा था कि खनिज नीलामी नियमों में संशोधन से प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा मिलेगा, जिससे ब्लॉकों की बिक्री में अधिक भागीदारी सुनिश्चित होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here