मध्य प्रदेशराज्य

राजधानी में लगातार चौथे दिन 300 के पार मिले नए संक्रमित मरीज

भोपाल
कोरोना के संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है। हफ्ते भर से कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी के बाद अब प्रशासन ने मास्क को लेकर सख्ती दिखानी शुरू की है। चालानी कार्रवाई के डर से लोग सड़कों पर मास्क लगाए नजर आ रहे हैं। लेकिन बाजारों और शहर की घनी आबादी में लापरवाह लोग बिना मास्क खुलेआम घूम रहे हैं। शुरुआती दिनों में जहांगीराबाद के अहीर मौहल्ला, कुम्हारपुरा जैसी घनी आबादी में बड़े पैमाने पर लोग संक्रमण का शिकार हुए थे। मौजूदा स्थिति में शहर के सबसे संक्रमित इलाके कोलार में राजस्व और पुलिस अधिकारियों ने मास्क को लेकर कार्रवाई शुरू की है।

राजधानी में लगातार चौथे दिन 300 से ज्यादा नए संक्रमित मिले हैं। इनमें कुछ सैंपल रिपीट पॉजिटिव आए हैं। चार इमली स्थित एक अफसर के घर में चार संक्रमित मिले। एमपीआरडीसी के जीएम की रिपोर्ट दोबारा पॉजिटिव आई है। गुलमोहर कॉलोनी में एक परिवार के 4, सहज निशि होम्स कोलार में 4, रेलवे कॉलोनी हबीबगंज में 3,एसबीआई लोकल हेड क्वार्टर में 3, राजहर्ष कॉलोनी में 3, अरेरा कॉलोनी और शाहपुरा में 4-4 मरीज मिले हैं।

शहर में कोरोना के संक्रमण का खतरा कम नहीं हुआ था और राजधानी में पुलिस और प्रशासन ने तमाम बंदिशों में छूट दे दी थी। शुरूआती दौर में एक मरीज मिलने पर पूरा इलाके के पांच हजार लोग कंटेनमेंट में रखे जाते थे। बाद में मुहल्ला किया फिर गली और सितंबर तक सिर्फ संक्रमित के घर के बाहर प्रशासन बैरिकेड़ रखवा कर खानापूर्ति करने लगा। नतीजा ये हुआ कि लोगों ने कोरोना को आम बीमारियों की तरह सामान्य व्यवहार शुरू कर दिया। दो महीने में बिना मास्क घूमें लोगों ने त्योहारों पर संक्रमण का खतरा बढ़ा दिया। विशेषज्ञों की मानें तो अब जो मरीज मिल रहे हैं वे खुद से जांच करा रहे हैं। अभी ये संख्या और बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close