अंतरराष्ट्रीय

‘आप’ नेताओं ने साधा निशाना, प्रदर्शनकारियों के साथ मारपीट की, पुलिस ने महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया

 
नई दिल्ली 

आम आदमी पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) शासित साउथ एमसीडी के जरिए सफाई कार्य को निजी हाथों में देने के लिए लाए जा रहे प्रस्ताव के विरोध में सिविक सेंटर पर प्रदर्शन करने वाले आप विधायकों पर एफआईआर दर्ज करने के मामले में बयान जारी किया है. वहीं 'आप' नेताओं का कहना है कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के साथ मारपीट की और महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया. अपने खिलाफ FIR दर्ज होने के बाद आम आदमी पार्टी के विधायक कुलदीप कुमार ने कहा, 'जो बीजेपी की पुलिस ने रवैया अपनाया उसको देखकर एक कहावत याद आती है कि उल्टा चोर कोतवाल को डांटे. वहां दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के साथ मारपीट की, महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया. आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को पीटा, तमाम सफाई कर्मचारियों पर लाठियां बरसाईं और अंत में हमारे ही खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर ली गई है.

कुलदीप कुमार ने आगे कहा, 'मैं भारतीय जनता पार्टी से और बीजेपी की पुलिस से यह कहना चाहता हूं कि चाहे आप हमारे खिलाफ एफआईआर दर्ज कीजिए, चाहे हमें जेल में डाल दीजिए, चाहे हमें गोली मार दीजिए, जब-जब भारतीय जनता पार्टी दलितों के अधिकारों का हनन करेगी, तब-तब सफाई कर्मचारियों के खिलाफ, दलितों पिछड़ों के खिलाफ इस प्रकार के काले कानून लाने की कोशिश करेगी, आम आदमी पार्टी का एक-एक सिपाही पहली पंक्ति में उसका विरोध करता हुआ खड़ा नजर आएगा.'
 
आम आदमी पार्टी के मॉडल टाउन से विधायक अखिलेश त्रिपाठी ने कहा, 'हम सिविक सेंटर के बाहर शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने के लिए इकट्ठा हुए थे. हम शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन जब बीजेपी की दलित और वाल्मीकि समाज विरोधी मानसिकता बेनकाब हुई तो उन्होंने पुलिस को आगे कर दिया. मैं बीजेपी को चेतावनी देना चाहता हूं कि आपको क्या लगता है कि पुलिस को आगे कर, एफआईआर दर्ज कर और लाठीचार्ज कर हमें रोक लेंगे… तो यह आपकी गलतफहमी है. आप एक नहीं हजार एफआईआर हमारे पर दर्ज करा दीजिए, हमें जेल में ठूंस दीजिए लेकिन हम पीछे नहीं हटेंगे.'

वहीं विधायक राखी बिड़लान ने आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी के काले कानून का विरोध करने के लिए जब आम आदमी पार्टी के विधायक, पार्टी कार्यकर्ता और सफाईकर्मी सिविक सेंटर के बाहर इकट्ठा हुए तो उनके साथ बीजेपी शासित पुलिस ने बर्बरता की. दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज की, उनकी पिटाई की और उनके कपड़े फाड़ दिए गए. इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने महिला प्रदर्शनकारियों के साथ भी गलत बर्ताव किया और उनके साथ धक्का-मुक्की की. पुलिस ने हमारे विधायकों की पिटाई की और मेरे साथ अभद्र व्यवहार किया. इसके अलावा हमारे ऊपर एफआईआर दर्ज कर दी गई. 

एफआईआर दर्ज
बता दें कि दिल्ली पुलिस ने डिपार्टमेंट ऑफ दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) के आदेशों का उल्लंघन करने पर आम आदमी पार्टी के चार विधायकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. जिन विधायकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है उनमें अखिलेश त्रिपाठी (मॉडल टाउन), कुलदीप कुमार मोनू (कोंडली), रोहित महरोलिया (त्रिलोक पुरी) और राखी बिड़लान (मंगोल पुरी) शामिल हैं.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close