मध्य प्रदेशराज्य

90 घंटे का प्रयास असफल, नहीं बचा बोरवेल में गिरा प्रहलाद, शिवराज सरकार ने परिवार को दिया 5 लाख का मुआवजा

पृथ्वीपुर
मध्यप्रदेश के निवाड़ी जिले के पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र में तीन दिन पूर्व बोरवेल में गिरे एक बच्चे को जावित निकालने 90 घंटे का प्रयास असफल रहा। बच्चा 90 घंटे से अधिक समय से बोरवेल में फंसा था। SDRF, NDRF,अन्य विशेषज्ञों की टीम ने दिन-रात मेहनत की लेकिन अंत में रविवार सुबह 3:00 बजे बच्चे का मृत शरीर निकाला गया। इस घटना पर राज्य में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुख व्यक्त किया है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा- मुझे अत्यंत दुःख है की निवाड़ी के सैतपुरा गांव में अपने खेत के बोरवेल में गिरे मासूम प्रहलाद को 90 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद भी बचा नहीं पाए।  एसडीआरएफ़, एनडीआरएफ़, और अन्य विशेषज्ञों की टीम ने दिन-रात मेहनत की लेकिन अंत में आज सुबह 3:00 बजे बेटे का मृत शरीर निकाला गया।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा- दुःख की इस घड़ी में, मैं एवं पूरा प्रदेश प्रहलाद के परिवार के साथ खड़ा है और मासूम बेटे की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना कर रहा है। सरकार द्वारा प्रहलाद के परिवार को ₹5 लाख का मुआवज़ा दिया जा रहा है, एवं उनके खेत में एक नया बोरवेल भी बनाया जाएगा।

पृथ्वीपुर के थाना प्रभारी नरेंद्र त्रिपाठी के अुनसार, बुधवार सुबह दस बजे के करीब सैतपुरा गांव के समीप स्थित एक बोरवेल में पांच वषीर्य बच्चा प्रहलाद कुशवाहा खेलते समय गिर गया। घटना के बाद ग्रामीण मौके पर एकत्रित हो गए और इसकी सूचना पुलिस को दी गई। इसके बाद पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई और बच्चे को निकालने के लिए राहत एवं बचाव कार्य प्रारंभ कर दिया।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close