छत्तीसगढ़ रायपुर

विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं के लिए 146 करोड़ स्वीकृति जारी

रायपुर
राज्य सरकार ने विभिन्न सिंचाई परियोजनाओं के लिए 145 करोड़ 96 लाख 36 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की है। इन परियोजनाओं के पूरा होने से नौ हजार 68 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। बिलासपुर जिले के विकासखण्ड कोटा की केंदा व्यपवर्तन योजना के लिए 29 करोड़ 79 लाख 90 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है।

सूरजपुर जिले के विकासखण्ड प्रतापपुर के सिलौटा जलाशय के निर्माण के लिए 64 लाख 43 हजार रूपए स्वीकृत किए है। जलाशय के निर्माण से 116 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। धमतरी जिले के विकासखण्ड नगरीय के ग्राम सिरौदखुर्द के पास झरझरा नाला में स्टापडेम कमरपटा निर्माण के लिए दो करोड़ 97 लाख 88 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 150 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। सुकमा जिले के विकासखण्ड कोन्टा के गगनपल्ली तालाब के जीर्णोद्धार कार्य के लिए 76 लाख 30 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। कार्य के पूरा होने के पश्चात 81 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। कबीरधाम जिले के विकासखण्ड बोड़ला की बोदा जलाशय का मरम्मत एवं नहर सुधार कार्य के लिए 68 लाख 77 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। कार्य पूरा होने से 91 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। बालोद जिले के विकासखण्ड डौंडीलोहारा की जुनापानी जलाशय नहर रिमॉडलिंग लाईनिंग एवं अन्य कार्य के लिए 78 लाख 85 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। कार्य के पूरा होने के बाद 135 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई मिल सकेगी। विकासखण्ड गुण्डरदेही/डौंडीलोहारा की खरखरा मोंहदीपाट नहरों के रिमॉडलिंग एवं अन्य निर्माण कार्य के लिए 49 करोड़ 62 लाख 92 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। कार्य के पूरा होने के पश्चात 3578 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

बेमेतरा जिले के विकासखण्ड साजा के झीपनिया जलाशय के बांध के ऊंचाई बढ़ाने और नहरों के रिमॉडलिंग कार्य के लिए दस करोड़ 55 लाख 21 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। कार्य के पूरा होने से 1610 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई मिल सकेगी। विकासखण्ड बेरला की ताकम एनीकट सोलर सूक्ष्म सिंचाई योजना के निर्माण के लिए दो करोड़ 95 लाख 96 हजार रूपए स्वीकृति दी गई है। योजना के पूरा होने से ड्रीप पद्धती द्वारा 90 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई मिल सकेगी। विकासखण्ड बेरला के बहेरघाट-लावातरा एनीकट सोलर सूक्ष्म सिंचाई योजना के निर्माण के लिए दो करोड़ 98 लाख 21 हजार रूपए की स्वीकृति जारी की गई है। योजना के पूरा होने से ड्रीप पद्धती के माध्यम से 90 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड बेमेतरा के चक्रवाय-तुमा एनीकट सोलर सूक्ष्म सिंचाई योजना के लिए दो करोड़ 95 लाख 56 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के पूरा होने से 160 हेक्टेयर क्षेत्र में ड्रीप पद्धती के माध्यम से सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड धमधा (बेमेतरा-दुर्ग) के रक्शा जलाशय के नहरों के मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ सात लाख 18 हजार रूपए स्वीकृत किया गया है। योजना के पूरा होने से 190 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। विकासखण्ड धमधा के ही बिरेझर जलाशय योजना के जीर्णोद्धार कार्य के लिए दो करोड़ 94 लाख 30 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। योजना के पूरा होने से 265 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के विकासखण्ड कसडोल के जोंक व्यपवर्तन योजना से गिरौदपुरी सूक्ष्म सिंचाई योजना के निर्माण के लिए 35 करोड़ 93 लाख 16 हजार रूपए स्वीकृत किए गए है। योजना के निर्माण से ड्रीप पद्धती द्वारा 1200 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। जांजगीर-चांपा जिले के विकासखण्ड पामगढ़ के कंजीनाला पर बोरदा स्टापडेम के निर्माण के लिए दो करोड़ 27 लाख 63 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। योजना के पूरा होने से 50 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।