राष्ट्रीय

25 टन प्याज से लदा ट्रक हुआ गायब, खोजने में जुटी पुलिस

तिरुवनंतपुरम
इन दिनों देशभर में सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। खासकर प्याज के दाम तो 80-90 रुपए प्रति किलो हो गया था। इस बीच प्याज की चोरी और कालाबजारी भी बढ़ गई है। ऐसा ही एक मामला कोच्चि में सामने आया है जहां, एक थोक सब्जी व्यापारी ने प्याज से लदे ट्रक के गायब हो जाने की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई है। सब्जी व्यापारी मोहम्मद सियाद ने अपनी शिकायत में कहा कि उन्होंने महाराष्ट्र के अहमदनगर से 25 टन प्याज खरीदा और इसे लाने के लिए एक ट्रक भेजा। उन्होंने कहा कि आमतौर पर ट्रक को गंतव्य तक पहुंचने में एक सप्ताह लगता है लेकिन एक महीने बाद भी इसका कोई पता नहीं चल पाया है।  व्यापारी ने पुलिस को बताया है कि जब मैंने किसानों के सहकारी समिति को फोन किया तो मुझे बताया गया कि ट्रक को 25 सितंबर को ही भेजा गया था। ट्रक चालक का फोन बंद था। व्यापारी ने कहा है कि उसे कुछ गड़बड़ लग रहा है। उस समय कीमत काफी अधिक थी और वर्तमान में ट्रक में लदे प्याज की कीमत लगभग 50 लाख रुपए होगी। उन्होंने कहा कि बाद में सहकारी समिति ने लोडिंग और अन्य विवरणों की एक तस्वीर भेजी।

जांच के दौरान, पुलिस ने पाया कि एर्नाकुलम के अलुवा का रहने वाला ड्राइवर स्पेयर पार्ट्स की चोरी सहित कुछ अन्य मामलों में शामिल था। उन्हें संदेह है कि लोड गाड़ी को ब्लैक मार्केट में बेच दिया गया होगा और उसने अच्छी रकम कमा ली होगी। ड्राइवर का मोबाइल बंद है इसलिए पुलिस को उसे ट्रेस करना मुश्किल था, पुलिस ने कहा, उन्होंने पड़ोसी राज्यों में अपने समकक्षों से मदद मांगी। एर्नाकुल के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा है कि हमने अपनी जांच शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्ट फर्म ने भी शिकायत दर्ज कराई है। प्याज की बढ़ती कीमतों के बीच केरल ने पिछले सप्ताह राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ के माध्यम से प्याज का आयात किया था। दो हफ्ते पहले, राज्य में एक किलो प्याज की कीमत 90-100 रुपए थी, लेकिन अब यह 60 से 70 रुपए के बीच है। सरकार सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से इसे 45 रुपए किलो में बेचने की योजना बना रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close