उत्तर प्रदेशराज्य

24 घंटे तक लगातार होगा रामायण, राम-हनुमान मंदिरों का डाटा होने लगा तैयार

 मुरादाबाद 
हाथरस की घटना के बाद यह सियासी मजबूरी है या वक्त का तकाजा, लेकिन इस बार वाल्मीकि जयंती को भव्य बनाने का जिम्मा शासन ने अपने ऊपर ले लिया है। शासन के निर्देश मिलने के बाद प्रशासन के अफसर भगवान श्री राम और हनुमान मंदिरों का डाटा तैयार करने में जुट गए हैं। वाल्मीकि जयंती पर शनिवार को इन मंदिरों में अखंड रामायण, भजन-कीर्तन का आयोजन प्रशासन की ओर से होगा इसके लिए भजन-कीर्तन करने वाली टोलियों की सूची तैयार करके उनसे संपर्क साधा जा रहा है।

प्रदेश सरकार ने इस बार महर्षि वाल्मीकि जयंती पर हर जिले में भव्य कार्यक्रमों के आयोजन का निर्णय लिया है। 31 अक्तूबर को भव्य आयोजन करने के निर्देश हैं। मुख्य सचिव के आदेश पर प्रमुख सचिव मुकेश मेश्राम ने सभी जिलों के डीएम-कमिश्नर को इस बारे में आदेश भेज दिए हैं। आदेश मिलते ही अफसर हाई अलर्ट पर हैं। मुरादाबाद में भी सभी राम मंदिरों, हनुमान मंदिरों अथवा रामायण से संबंधित अन्य मंदिरों का जानकारी, फोटो, जीपीएस लोकेशन तैयार किए जा रहे हैं। वाल्मीकि रामायण में वर्णित राम जानकी मार्ग और वन गमन मार्ग के बारे में भी अलग से जानकारी मांगी गई है। कुछ मंदिर 8 घंटे, 12 घंटे और 24 घंटे अनवरत रामायण पाठ के लिए चुने जा रहे हैं। इन मंदिरों के लिए नोडल अधिकारी अलग से तैनात किए जा रहे हैं ताकि कार्यक्रम में कोई कमी न रह जाए। चयनित मंदिरों के लिए भजन गायकों, कलाकारों की लिस्ट भी लगभग तैयार है। जिला, तहसील और ब्लाक स्तर पर जहां आयोजन होंगे वहां एक समिति गठित कर आयोजन कराया जाएगा।

परंपरागत कार्यक्रमों का आयोजन विधिवत होगा
वाल्मीकि जयंती पर होने वाले जो कार्यक्रम हर साल परंपरागत तरीके से होते हैं,  वे पहले की भांति ही होंगे। इस बार अतिरिक्त कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। झांकियां, जुलूस कोविड नियमों के पालन के साथ और मंदिरों में विधिध आयोजन अलग से होंगे। इसके लिए मुरादाबाद में एडीएम प्रशासन लक्ष्मी शंकर सिंह को नोडल अधिकारी बनाया गया है। राकेश कुमार सिंह, जिलाधिकारी मुरादाबाद ने बताया कि शासन के निर्देश पर मुरादाबाद में वाल्मीकि जयंती को भव्य बनाने के लिए ड्यूटी लगा दी गई हैं। सांस्कृतिक टोलियों के माध्यम से रामायण, भजन कीर्तन आदि का आयोजन होगा। आयोजन स्थलों पर साफ सफाई, अफसरों की तैनाती की जा रही है। नोडल अधिकारी भी तैनात कर दिए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close