Home उत्तरप्रदेश पहले की सरकारों ने जाति, धर्म, क्षेत्र और भाषा के आधार पर...

पहले की सरकारों ने जाति, धर्म, क्षेत्र और भाषा के आधार पर समाज को बांटने और ठगने का कार्य किया था : योगी आदित्यनाथ

11
0

लखनऊ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में सुशासन के लिए कई बड़े रिफार्म (सुधार) करने पड़े हैं। पहले की सरकारों ने जाति, धर्म, क्षेत्र और भाषा के आधार पर समाज को बांटने और ठगने का कार्य किया था। आज विभिन्न योजनाओं के माध्यम से गरीबों को आत्मनिर्भर बनाया गया है। नई दिल्ली में स्थित डॉ. अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर में राम भाऊ म्हालगी प्रबोधिनी की ओर से आयोजित दो दिवसीय सुशासन महोत्सव को वर्चुअली संबोधित करते हुए उन्होंने प्रदेश सरकार की उपलब्धियां भी गिनाई।

उन्होंने कहा कि बीते 10 वर्षों में पूरी दुनिया नए भारत का दर्शन कर रही है। देश के अंदर सुरक्षा का बेहतर वातावरण बना है। जनधन, आधार और मोबाइल के माध्यम से जहां भ्रष्टाचार पर प्रभावी अंकुश लगा है तो वहीं डीबीटी के माध्यम से अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक शासन की योजनाएं और सेवाएं पहुंच रही हैं। आज एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना साकार हुई है। प्रधानमंत्री की पहल पर दुनिया के 193 देशों ने योग को अपनाया है। उन्होंने कहा कि जल्द ही उत्तर प्रदेश 21 एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा। उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक एक्सप्रेस वे हैं, जो लोगों का सफर आसान बना रहे हैं। आज प्रदेश में औद्योगिक निवेश का बेहतर माहौल है।

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में 40 लाख करोड़ का निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुआ। इससे 1.3 करोड़ नौजवानों को रोजगार मिलेगा। इस अवसर पर राम भाऊ म्हालगी प्रबोधिनी के कार्यकारी निदेशक जयंत कुलकर्णी, डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे, गोरंगदास, अभय, चित्रा सहित बड़ी संख्या में युवा मौजूद रहे।

Previous articleतेलंगाना सरकार ने वित्त वर्ष 2024-25 के लिए 2.75 लाख करोड़ रुपये का वोट ऑन अकाउंट बजट पेश किया
Next articleअपराध, नशाखोरी और अवैध गतिविधियों पर हमारी सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति : मुख्यमंत्री साय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here