Home विदेश परमाणु संयंत्र रूस यूक्रेन युद्ध के बीच खतरे में, अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा...

परमाणु संयंत्र रूस यूक्रेन युद्ध के बीच खतरे में, अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा ने दी चेतावनी

24
0

कीव
रूस यूक्रेन जंग के बीच दोनों देशों ने एक दूसरे पर यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर गोलीबारी का आरोप लगाया है। रूस ने कहा है कि यूक्रेन की ओर से की गई गोलीबारी में ऊर्जा संयंत्र में आग लग गई। उधर, यूक्रेन का दावा है कि रूसी सैनिकों ने संयंत्र को निशाना बनाया है। इस हमले के चलते ऊर्जा संयंत्र के दो रिएक्‍टरों से उत्‍पादन कम करने के लिए मजबूर होना पड़ा। यूक्रेन का कहना है कि रूसी सैनिकों पर इस क्षेत्र में हथ‍ियारों के भंडारण का आरोप लगाया है।

उधर, अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के महानिदेशक राफेल ग्रासी ने चेतावनी दी है कि जिस तरह से रूसी सेना के तहत संयंत्र चलाया जा रहा है और जिस तरह से उसके आसपास लड़ाई जारी है, उससे गंभीर स्वास्थ्य और पर्यावरणीय खतरा उत्पन्न हो सकता है। यूक्रेन के सैन्य खुफिया प्रमुख, एंड्री युसोव ने यह कहकर रूसी बयानों का प्रतिवाद किया कि उनके संगठन को कई स्रोतों से विश्वसनीय जानकारी मिली है कि रूसी सेना ने क्षेत्र में एक अपेक्षित यूक्रेनी जवाबी कार्रवाई का सामना करने के लिए संयंत्र में विस्फोटक लगाए हैं। इससे पहले, यूक्रेनी अधिकारियों ने कहा है कि रूस संयंत्र से हमले शुरू कर रहा है और यूक्रेनी श्रमिकों को मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल कर रहा है।

उधर, मंगलवार को रूस के क्रीमिया स्थित एक सैन्य एयरबेस में धमाके हुए हैं। धमाका इतना जबरदस्‍त था कि इससे उठे काले धुएं से आसपास धुंध छा गई। स्थानीय लोगों ने 12 धमाके होने की बात कही है। इसमें एक की मौत हो गई, जबकि पांच लोग घायल हो गए। बता दें कि यूक्रेन के साथ जारी युद्ध के बीच यह सैन्य एयरबेस रणनीतिक रूप से रूस के लिए काफी महत्वूर्ण है। यहां से रूसी सेना दक्षिणी यूक्रेन पर बहुत ही कम समय में हमला कर सकती है। यूक्रेन ने फिलहाल इस पर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

गौरतलब है कि रूस यूक्रेन जंग में बीते 24 घंटे में रूसी सेना की गोलाबारी में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि 23 अन्य घायल हो गए। कहा गया है कि रूस ने अपने कब्जे वाले एक परमाणु संयंत्र के पास भी गोलाबारी की है। रूसी सेना ने दक्षिणी शहर निकोपोल में मल्टीपल राकेट लांचर से 120 से अधिक राकेट दागे हैं। गोलाबारी में कई अपार्टमेंट और औद्योगिक प्रतिष्ठानों को नुकसान पहुंचा है। यूक्रेन और रूस ने हाल के दिनों में एक-दूसरे पर जापोरिज्जिया परमाणु संयंत्र के पास गोलाबारी करने का आरोप लगाया है।

 

Previous articleहरियाणा: पालिटेक्निकल कोर्स में दाखिले का नया शेडयूल जारी, इस दिन से पहले करना होगा आवेदन
Next articleशिंदे-फडणवीस कैबिनेट का कब होगा दूसरा विस्तार? दीपक केसरकर ने 19वें मंत्री का नाम भी बताया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here