Home व्यापार उच्च महंगाई, प्रतिस्पर्धी दबाव और प्रतिकूल मौसम के कारण गिरावट जुलाई में...

उच्च महंगाई, प्रतिस्पर्धी दबाव और प्रतिकूल मौसम के कारण गिरावट जुलाई में मंद होकर चार महीने के निचले स्तर पर

56
0

नई दिल्ली
सर्वे के मुताबिक, अच्छी बिक्री की जानकारी देने वाले सेवा प्रदाताओं ने कहा कि जुलाई में मांग के लिए परिस्थितियां अनुकूल रहीं। उन्हें विज्ञापन का भी लाभ मिला।

देश के सेवा क्षेत्र की गतिविधियों की रफ्तार इस साल जुलाई में मंद होकर चार महीने के निचले स्तर पर पहुंच गई। उच्च महंगाई, प्रतिस्पर्धी दबाव और प्रतिकूल मौसम के कारण मांग प्रभावित होने से सेवा क्षेत्र की वृद्धि दर में गिरावट दर्ज की गई है। इसके साथ ही एसएंडपी ग्लोबल इंडिया का सेवा पीएमआई (परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स) कारोबारी गतिविधि सूचकांक जुलाई में घटकर 55.5 रह गया, जो चार महीने में सबसे कम है।

जून में सेवा पीएमआई 59.2 रहा था। यह लगातार 12वां महीना है, जब सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में विस्तार हुआ है। सर्वे के मुताबिक, अच्छी बिक्री की जानकारी देने वाले सेवा प्रदाताओं ने कहा कि जुलाई में मांग के लिए परिस्थितियां अनुकूल रहीं। उन्हें विज्ञापन का भी लाभ मिला।

हालांकि, तीव्र प्रतिस्पर्धा और प्रतिकूल मौसम की वजह से वृद्धि प्रभावित हुई। इससे समग्र पीएमआई उत्पादन सूचकांक जून के 58.2 से गिरकर जुलाई में 56.6 पर आ गया। यह मार्च के बाद से सबसे कम वृद्धि को दर्शाता है। पीएमआई का 50 से ऊपर रहना गतिविधियों में विस्तार और इससे नीचे का आंकड़ा संकुचन को दिखाता है।

कंपनियों की लागत बढ़ी, रोजगार में सुधार नहीं
सर्वे में कहा गया है कि जुलाई में सेवा अर्थव्यवस्था में कारोबारी धारणा कमजोर रही क्योंकि सिर्फ 5 फीसदी कंपनियों ने ही आने वाले वर्ष में उत्पादन बढ़ने की उम्मीद जताई है। अधिकांश कंपनियों (94%) ने मौजूदा कारोबारी गतिविधियों में आगे सुधार नहीं होने की आशंका जताई है।

गिरावट के बाद बैंकों में बढ़ी पूंजी
देश की बैंकिंग प्रणाली की तरलता में जबरदस्त तेजी आई है। यह 2 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा हो गई है। पिछले सप्ताह यह 50 हजार करोड़ घटकर तीन साल के निचले स्तर पर पहुंच गई थी। पिछले हफ्ते की तुलना में तरलता में चार गुना की वृद्धि हुई है। टैक्स के लिए बैंकों से अच्छी खासी रकम की निकासी हुई थी। इस से बैंकों के सामने तरलता की दिक्कत आ गई थी।

Previous articleमुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय सशक्त समिति का गठन
Next articleगौ-संवर्धन बोर्ड अध्यक्ष स्वामी श्री गिरि द्वारा पशु चिकित्सा शिविर का अवलोकन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here