Home उत्तरप्रदेश CM योगी ने 19 प्रभारी मंत्रियों के मंडल में तीसरी बार किया...

CM योगी ने 19 प्रभारी मंत्रियों के मंडल में तीसरी बार किया फेरबदल

47
0

लखनऊ
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योग आदित्यनाथ ने तीसरी बार अपने कैबिनेट मंत्रियों के मंडल प्रभार में बदलाव किया है। सरकार योजनाओं को क्रियान्वयन का अध्ययन करने और स्थानीय लोगों के साथ बातचीत करने के लिए सभी 19 संभागों में मंत्रियों को भेजा जाएगा। राज्य सरकार ने इस महीने के अंत में होने वाली इन यात्राओं के तीसरे दौर के कार्यक्रम को अंतिम रूप देकर सभी को जिम्मेदारियां पकड़ा दी हैं। दरअसल योगी ने 100 दिन के भीतर तीसरी बार मंत्रियों के कामकाज में फेरबदल किया है। इसकी मेन वजह ये है कि मंत्रियों को अलग अलग इलाकों का अनुभव मिले और कोई एक मंत्री एक जगह अपना अड्‌डा न बना पाए। सीएम की इच्छा के अनुरूप कि मंत्रियों को विभिन्न संभागों का दौरा करना चाहिए। मंत्री परियोजनाओं और अस्पतालों की समीक्षा करेंगे और सीएम को एक रिपोर्ट सौंपेंगे। इस बार गोरखपुर मंडल में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना राज्य मंत्री दानिश आजाद अंसारी और दिनेश खटीक समेत एक टीम का नेतृत्व करेंगे। जबकि जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह और राज्य के मंत्री संदीप सिंह (स्वतंत्र प्रभार) और संजीव गौड़ वाराणसी मंडल के प्रमुख होंगे।

जितिन प्रसाद को लखनऊ, सूय प्रताप शाही को अलीगढ़ की कमान
इस तर लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद को कपिल देव अग्रवाल और मयंकेश्वर शरण सिंह के साथ लखनऊ मंडल की जिम्मेदारी सौंप गई है जबकि मत्स्य पालन मंत्री संजय निषाद को जेपीएस राठौर और सोमेंद्र तोमर को झांसी संभाग की कमान सौंप गई है। औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल नंदी, नरेंद्र कश्यप और ब्रजेश सिंह प्रमुख होंगे. मेरठ संभाग से, जबकि कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही अजीत सिंह पाल और जसवंत सैनी अलीगढ़ संभाग में नेतृत्व करेंगे।

बेबीरानी मौर्य को सहारनपुर, भूपेंद्र चौधरी को आजमगढ़ का चार्ज
महिला विकास मंत्री बेबी रानी मौर्य, नितिन अग्रवाल और विजय लक्ष्मी सहारनपुर संभाग का दौरा करेंगी, जबकि गन्ना विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, राकेश राठौर और रामकेश निषाद अयोध्या संभाग के लिए रवाना होंगे। पशुपालन मंत्री धर्मपाल सिंह, गुलाब देवी और संजय गंगवार मुरादाबाद संभाग का दौरा करेंगे। पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी, दयाशंकर मिश्रा और सुरेश राही आजमगढ़ संभाग के प्रमुख होंगे जबकि श्रम मंत्री अनिल राजभर, अरुण कुमार सक्सेना और केपी मलिक को कानपुर का जिम्मा सौंपा गया है।

Previous articleपात्रा चॉल की दर्दभरी कहानियां, कहीं गहने गिरवी, किसी ने घर की आस में ली अंतिम सांस
Next articleशासकीय सेवक 22 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल करेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here