Home Uncategorized हर घर तिरंगा अभियान को सब मिलकर ऐतिहासिक अभियान बनाएं–विधायक त्योंथर

हर घर तिरंगा अभियान को सब मिलकर ऐतिहासिक अभियान बनाएं–विधायक त्योंथर

40
0

हर घर तिरंगा तथा अंकुर अभियान के लिए हर व्यक्ति और समुदाय की भागीदारी आवश्यक – कलेक्टर

रीवा

 

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में हर घर तिरंगा अभियान, अंकुर अभियान तथा ऊर्जा संरक्षण अभियान की तैयारियों की समीक्षा की गई। बैठक में विधायक त्योंथर श्री श्यामलाल द्विवेदी ने कहा कि तिरंगा हमारी शान का प्रतीक है। अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराकर हम राष्ट्र तथा वीर शहीदों को नमन करेंगे। अभियान को सफल बनाने में हर व्यक्ति सहयोग दे। यह अभियान हमारी राष्ट्रीय चेतना का अभियान है। जिले में हर घर तिरंगा अभियान को ऐतिहासिक अभियान बनाएं। बैठक में नव निर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती नीता कोल ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

    बैठक में कलेक्टर मनोज पुष्प ने कहा कि हर घर तिरंगा अभियान जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में 11 से 17 अगस्त तक चलाया जाएगा। अभियान के दौरान हर घर में देश के गौरव के प्रतीक राष्ट्रीय ध्वज को फहराने का लक्ष्य रखा गया है। इस अभियान में हर वर्ग, हर समुदाय, हर संगठन और हर व्यक्ति की भागीदारी आवश्यक है। आजादी के अमृत महोत्सव को मनाने के लिए यह सर्वोत्तम तरीका है। जिस झण्डे की शान के लिए बलिदानियों ने अपने प्राण न्यौछावर कर दिए, उस झण्डे को गौरव के साथ अपने घरों में लगाकर हम देश और शहीदों को नमन करें।

    कलेक्टर ने कहा कि हर घर तिरंगा अभियान के लिए स्वसहायता समूहों से तिरंगे का निर्माण कराया गया है। संस्कृति विभाग से भी बड़ी संख्या में तिरंगे प्राप्त हुए हैं। इनका नगर निगम, नगर परिषद, जनपद पंचायत तथा ग्राम पंचायतों के माध्यम से वितरण कराया जाएगा। हर व्यक्ति से इस बात का अनुरोध है कि वह तिरंगे के लिए निर्धारित 10 से 30 रुपए की सहयोग राशि अवश्य प्रदान करे। स्वयं के घर में झण्डा लगाने के साथ-साथ कम से कम एक घर के लिए झण्डे का सहयोग करें। जो परिवार गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन कर रहे हैं अथवा अन्य किसी कारण से कमजोर आर्थिक स्थिति में हैं उन्हें नि:शुल्क झण्डा उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। अभियान की मॉनीटरिंग के लिए जिला से लेकर ग्राम पंचायत स्तर तक तैनात किए गए हैं।

    बैठक में कलेक्टर ने कहा कि ध्वज संहिता का पालन करते हुए अपने घरों में तिरंगा फहराना है। नए प्रावधानों के अनुसार रात्रि में भी तिरंगा फहराया जा सकता है। लेकिन 11 से 17 अगस्त के महाअभियान के बाद तिरंगे को सम्मान पूर्वक अवरोहित कर उसे सुरक्षित रखना भी हम सबकी जिम्मेदारी है। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़े ने झंडों के वितरण व्यवस्था की जानकारी दी। बैठक में जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक प्रवीण पाठक ने हर घर तिरंगा अभियान की कार्ययोजना तथा प्रचार-प्रसार के प्रयासों की जानकारी दी।

    बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले भर में अंकुर अभियान के तहत पौधारोपण किया जा रहा है। पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पौधारोपण आवश्यक ही नहीं अनिवार्य है। हर व्यक्ति कम से कम एक पौधा अवश्य रोपित करे। अंकुर अभियान के तहत इस वर्ष दो लाख पौधे रोपित करने का लक्ष्य है। अब तक 18 हजार से अधिक व्यक्तियों ने वायुदूत एप डाउनलोड कर उसमें रोपित पौधों की जानकारी दर्ज की है। अब तक 56 हजार से अधिक पौधे रोपित किए जा चुके हैं। यह अभियान भी सबके सहयोग से ही फलीभूत होगा। पौधे उचित स्थान पर रोपित कर उनके सुरक्षा की पूरी व्यवस्था करें। गत वर्ष रोपित किए गए लगभग 20 हजार पौधे पूरी तरह से सुरक्षित हैं। बैठक में ऊर्जा संरक्षण के उपायों की भी जानकारी दी गई। बैठक में आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, अपर कलेक्टर शैलेन्द्र सिंह, विभिन्न सामाजिक संगठनों तथा स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Previous articleसावन के तीसरे सोमवार पर गैवीनाथ धाम में उमड़ा भक्तों का सैलाब
Next articleटीम इंडिया के लिए ‘काल’ बने ओबेड मैकॉय ने मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीतने के बाद कहा- ये मेरी मां के लिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here