Home उत्तरप्रदेश ईशान नदी में तैरता हुआ मिला ‘राम नाम’ का पत्थर, देखने के...

ईशान नदी में तैरता हुआ मिला ‘राम नाम’ का पत्थर, देखने के लिए दूर-दूर से पहुंचने लगे लोग

43
0

मैनपुरी
उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप भी आश्चर्यचकित हो जाएंगे। जी हां..ईशान नदी में एक पत्थर तैरते हुए देखा गया है, जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है। ऐसा बताया जा रहा है कि इस पत्थर पर भगवान 'राम' का नाम गुदा हुआ हैं। राम नाम के पत्थर की तैरने की चर्चा जंगल में आग की तरह फैल गईं। वहीं, मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने पत्थर को कब्जे में लेकर जांच के लिए भेज दिया है। ईशान नदी में तैरता हुआ मिला राम नाम का पत्थर हालांकि, इलाके के ग्रामीण पत्थर को आस्था से जोड़कर देख रहे है और इसे पूजा अर्चना के लिए मंदिर के पास कुंड़ी बनाकर उसमें रखना चाहते हैं। यह मामला मैनपुरी जिले के कुसमरा क्षेत्र में अहमलपुर ग्राम पंचायत के पास ईशन नदी का है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 30 जुलाई की सुबह गांव के कुछ बच्चे नदी में मछली पकड़ने गए थे। मछली पकड़ने के दौरान बच्चों ने नदी में एक काला सा पत्थर तैरता हुआ दिखाई दिया। पत्थर को बच्चों ने नदी से निकाल लिया, जिस पर राम लिखा हुआ था।

पत्थर को आस्था से जोड़कर देख रहे ग्रामीण

 बच्चे इस पत्थर को गांव के बुजुर्गों के पास ले आए। राम नाम का पत्थर मिलने की सूचना पर अहमलपुर ग्राम पंचायत के गांव प्रधान नितिन पांडेय भी मौके पर पहुंच गए। ग्राम प्रधान ने पानी में तैरने वाले पत्थर को अपने सुपुर्द ले लिया और एक टब में पानी भरकर पत्थर डाला तो वह तैरता रहा। यह देखकर ग्रामीण हैरत में पड़ गए, जिस किसी को भी इसकी जानकारी मिली, वह इस पत्थर को देखने चला आया। ग्रामीण पानी में तैरने वाले पत्थर को आस्था से जोड़कर देख रहे हैं।

 5.7 किलो ग्राम है पत्थर का वजन
 गांव प्रधान की मानें तो इस अद्भुत पत्थर को वह कुसमरा रामलीला स्थित हनुमान मंदिर पर एक कुंडी बनवाकर उसमें रखेंगे, जहां पूजा पाठ होगा। वहीं, इलाके में इस पत्थर को लेकर कौतूहल बना हुआ है। दरअसल, कुछ स्थानीय लोगों का दावा है कि पत्थर 'राम सेतु' से जुड़ा रहे है। आपको बता दें कि जो पत्थर मिला है उसका वजन करीब 5.7 किलोग्राम बताया जा रहा है। फिलहाल प्रशासन ने उक्त पत्थर को अपने कब्जे में ले लिया। प्रशासन की मानें तो संबंधित विभग को यह पत्थर भेजकर इसकी जांच कराई जाएगी।

Previous articleभारत को अमेरिका के हमले की जानकारी पहले से थी
Next articleसुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोले कपिल सिब्बल, ईडी की ताकत का दुरुपयोग होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here