Home छत्तीसगढ़ हड़ताल पर संविदा चिकित्सक,ओपीडी में कामकाज प्रभावित

हड़ताल पर संविदा चिकित्सक,ओपीडी में कामकाज प्रभावित

24
0

रायपुर
नियमितीकरण की मांग को लेकर डीकेएस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल समेत छह मेडिकल कालेजों के संविदा चिकित्सक एक अगस्त को हड़ताल पर रहे। संविदा चिकित्सका शिक्षकों ने बताया कि उनके द्वारा दी जा रही आपतकालीन सेवाओं को छोड़कर ओपीडी व अन्य सेवाएं बंद रखी गई है। इसके लिए सभी ने सामूहिक अवकाश ले लिया है। इसकी विधिवत सूचना उन्होने अस्पताल अधीक्षक व एकडेमिक इंचार्ज को पहले ही लिखित में दे दी है। अपनी मांगों को लेकर पूर्व दी गई मांग पत्र का भी जिक्र उन्होने किया है। वहीं मांंगें पूरी नहीं होने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी भी दी है।

डीकेएस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के संविदा चिकित्सक डा. मेघना मिश्रा, डा. शताब्दी राय, डा. उत्तम, डा. यूबी दयाल, डा. जीवनलाल व अन्य  ने बताया कि डीकेएस अस्पताल प्रदेश का एकमात्र शासकीय सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल है। जहां पर सुपर स्पेशयलिटी कोर्सेस (एमसीएच) का अध्यापन होता है। यह पर अंधिकांश चिकित्सा शिक्षक विगत 8 से 10 वर्षों से  संविदा पर कार्यरत्त हैं और संस्थान के सुचारू संचालन में अपना योगदान दे रहे हैं। इस हास्पिटल में ं 95 प्रतिशत चिकित्सा शिक्षक संविदा पर कार्य कर रहे हैं। शासन स्तर पर संविदा चिकित्सकों को नियुक्त किया जाना है, लेकिन डीकेएस अस्पताल के संविदा चिकित्सकों को इससे वंचित किया गया है।

नियमितीकरण की मांग को लेकर शासन स्तर पर भी अपनी मांग रख चुके हैं, लेकिन अब तक मामले को लेकर संज्ञान ही नहीं लिया गया है। इसे लेकर आक्रोशित चिकित्सकों ने एक अगस्त को सामूहिक अवकाश लेकर प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। मांगें पूरी नहीं होने पर सभी चिकित्सक अनिश्चिकालीन धरने पर जाएंगे। इसकी पूरी जिम्मेदारी शासन की होगी। बता दें कि जगदलपुर, अंबिकापुर, बिलासपुर, राजनांदगांव और रायगढ़ मेडिकल कालेजों के संविदा चिकित्सक भी हड़ताल पर हैं। हड़ताल पर जाने की वजह को उल्लेखित करते हुए इन्होने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य व परिवार कल्याण तथा सचिव स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग एवं संचालक डीकेएस सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल एवं रिसर्ज सेंटर को भी मांग पत्र की प्रतिलिपि भेजा है।

Previous articleसमूचे अंचल में धूप, उमस और बैचेनी भरा मौसम
Next articleपीसीसी ने हर जिले से मंगवाया रोडमैप, करेंगे 75 किलोमीटर की पदयात्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here