Home विदेश अफगानिस्तान: बाढ़ ने मचाया कहर, 120 लोगों की मौत; 600 से अधिक...

अफगानिस्तान: बाढ़ ने मचाया कहर, 120 लोगों की मौत; 600 से अधिक घर तबाह

49
0

काबुल
अफगानिस्तान में भारी बारिश के चलते आई बाढ़ ने देश के कई राज्यों में कहर मचा दिया है। बाढ़ के चलते कई अफगानी लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है तो कई को काफी नुकसान झेलना पड़ा है। तालिबान (Taliban News) के नेतृत्व वाली सरकार के अनुसार पिछले एक महीने में बाढ़ के कारण कम से कम 120 लोगों की मौत हो गई है और 152 अन्य घायल हो गए, जिससे हजारों एकड़ कृषि भूमि भी खराब हो गई है।

10 से अधिक प्रांतों को हुआ नुकसान
अफगानिस्तान के राज्य आपदा प्रबंधन मंत्रालय के अनुसार 10 से अधिक प्रांतों में बाढ़ आई है और राजमार्गों और सड़कों सहित सार्वजनिक बुनियादी ढांचे को गंभीर नुकसान हुआ है। मंत्रालय के अनुसार, 600 से अधिक घर भी पूरी तरह से या आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

बारिश के साथ तूफान की भी चेतावनी
बता दें कि अफगानिस्तान में अभी भी भारी बारिश हो सकती है। बदख्शां, कुनार, नूरिस्तान, लगमन, नंगरहार, काबुल, गजनी, ज़ाबुल, कंधार, लोगर, पक्तिया और पक्तिका प्रांतों के लिए भारी बारिश की चेतावनी थी। अफगानिस्तान मौसम विज्ञान प्राधिकरण ने दूसरी और रेतीले तूफान की भी चेतावनी दी है। बल्ख, हेरात, फराह, हेलमंद, कंधार और निमरोज में, हवा की गति 20-90 किमी प्रति घंटे के बीच हवाएं चल सकती है।

10 सुरक्षा कर्मियों की भी मौत
देश में बाढ़ के चलते पूर्वी अफगानिस्तान के गजनी प्रांत में 10 सुरक्षा कर्मियों की मौत की खबर भी सामने आई है। रिपोर्ट के अनुसार, काराबाग जिले में भारी बारिश और अचानक आई बाढ़ में सुरक्षा बलों का एक वाहन फंस गया, जिससे 10 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई। बाढ़ में तीन अन्य घायल हो गए हैं।

बलूचिस्तान में लगाई गई थी धारा 144 लागू
बता दें कि बाढ़ को देखते हुए बलूचिस्तान सरकार ने हाल ही में एक महीने के लिए और बारिश के पूर्वानुमान के बीच प्रांत में धारा 144 लागू कर दी थी। इसके तहत लोगों के नदियों, बांधों और अन्य जलाशयों में पिकनिक के लिए जाने पर रोक लगा दी गई थी।

Previous articleहाई कोर्ट में आज ओबीसी आरक्षण को बढ़ाकर 27 प्रतिशत करने के मामले में सुनवाई
Next articleआर्थिक हालात के लिए इमरान खान ने शहबाज सरकार को ठहराया जिम्मेदार, बोले- अपाहिज नीतियों से बिगड़ी देश की स्थिति

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here