राजनीति

राजस्थान का सियासी पारा अब भी हाई, पायलट से मिल अजय माकन फिर पहुंचे जयपुर

जयपुर
राजस्थान कांग्रेस का सियासी पारा अब भी चढ़ा हुआ है। सचिन पायलट को दिल्ली लाए जाने की खबरों और बागी विधायकों को मंत्री बनाने की अटकलों के बाद भी राजस्थान की सियासी सरगर्मी कम नहीं हुई है। राजस्थान में अशोक गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल व हजारों की संख्या में राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के बीच कांग्रेस महासचिव व पार्टी के राजस्थान प्रभारी अजय माकन मंगलवार रात एक बार फिर जयपुर पहुंचे। अजय माकन दो दिन यहां रहकर कांग्रेस एवं कांग्रेस समर्थक विधायकों से चर्चा करेंगे। 

वहीं, पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने नई दिल्ली में अजय माकन से मुलाकात की। अजय माकन का जयपुर पहुंचने पर हवाई अड्डे पर कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा व अन्य नेताओं ने स्वागत किया। इससे पहले डोटासरा ने मंगलवार को दिन में ट्वीट किया था, 'अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव व राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन बुधवार को दो दिवसीय दौरे पर राजस्थान आ रहे हैं। इस दौरान वे सभी कांग्रेस एवं कांग्रेस समर्थक विधायकों से चर्चा करेंगे।' वहीं, पूर्व उपमुख्यमंत्री पायलट ने माकन के जयपुर रवाना होने से पहले उनसे नयी दिल्ली में मुलाकात की। विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि पायलट व माकन के बीच राजस्थान मंत्रिमंडल में फेरबदल के साथ-साथ राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर लंबी चर्चा हुई। मुलाकात के बाद पायलट इस सारे प्रकरण के जल्द समाधान को आश्वस्त नजर आए। 
 
राजस्थान बोर्ड जल्द जारी कर सकता है 10वीं स्टूडेंट्स के परीक्षा परिणाम
उल्लेखनीय है कि पायलट खेमा लंबे समय से मंत्रिमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की मांग कर रहा है। राजस्थान मंत्रिमंडल में फेरबदल व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के बीच माकन व पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने इसी शनिवार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ लंबी चर्चा की थी। पार्टी सूत्रों ने कहा कि इन नेताओं ने मंत्रिमंडल विस्तार का फैसला पार्टी आलाकमान पर छोड़ने का निर्णय किया है।