राजनीति

 राहुल गांधी की मांग को केंद्र ने ठुकराया 

नई दिल्ली
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की पेगासस जासूसी मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग को केंद्र सरकार ने ठुकरा दिया है। राहुल गांधी ने शुक्रवार को पेगासस जासूसी को जनता की आवाज पर आक्रमण बताते हुए गृहमंत्री अमित शाह के इस्तीफे और पूरे मामले की न्यायिक जाच की मांग की है। इसको लेकर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार ने कहा कि इस मामले में ऐसा कुछ भी नहीं है, जिसको लेकर जांच बैठाई जाए। गृह राज्यमंत्री अजय कुमार ने बातचीत में कहा, हमने (केंद्र सरकार) स्पाइवेयर मामले में सब कुछ स्पष्ट कर दिया है। ऐसे में किसी भी जांच के लिए कोई मुद्दा ही नहीं है। जो लोग आरोप लगा रहे हैं वे राजनीतिक विफलता को यहां निकाल रहे हैं क्योंकि उनके पास कोई दूसरा मुद्दा नहीं है। इसलिए वो इस मामले को उठा रहे हैं।

राहुल गांधी ने क्या कहा है राहुल गांधी ने शुक्रवार को संसद भवन के सामने पेगासस मामले को लेकर प्रेस वार्ता की है। राहुल ने कहा कि पेगासस को इसराइल ने हथियार की कैटेगरी में रखा है। इस हथियार का इस्तेमाल देश पर हुआ है। ऐसे में गृह मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। पीएम और गृह मंत्रालय के अलावा इसका ऑथराइजेशन कोई कर नहीं सकता है। ये जरूरी है कि गृहमंत्री और प्रधानमंत्री के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में न्यायिक जांच की जानी चाहिए। राहुल ने कहा कि मेरा फोन टैप किया गया। ये सिर्फ मेरी प्राइवेसी का मामला नहीं है। मैं विपक्ष का नेता हूं और जनता की आवाज उठाता हूं। ये जनता की आवाज पर हमला किया गया है। राहुल ने कहा कि अगर हमारी सरकार ने ये नहीं किया है तो फिर तो जांच ज्यादा जरूरी हो जाती है ताकि पता चल सके कि कौन हमारे देश में जासूसी करा रहा है।