देश

राजस्थान पुलिस के नए DGP के तौर पर एमएल लाठर की नियुक्ति

जयपुर

पूर्व डीजीपी भूपेन्द्र यादव (Bhupendra yadav) के वीआरएस (VRS)लेने के बाद लगातार नए डीजीपी (DGP) की तलाश चल रही थी। लेकिन अब इन अटकलों पर विराम लग गया है। आखिरकार राजस्थान पुलिस विभाग को अपना नया मुखिया मिल ही गया है। राजस्थान सरकार ने ML लाठर पर भरोसा जताते हुए उन्हें प्रदेश के नए डीजीपी के तौर पर नियुक्त कर दिया है। इस संबंध में कार्मिक विभाग ने देर रात आदेश जारी कर दिए हैं।

ऐसा रहा लाठर का सफर
आपको बता दें कि लाठर लाठर ने भरतपुर से बतौर डीएसपी रेंज (CO) के तौर पर शुरुआत की थी। इसके बाद SP के रूप में पहली पोस्टिंग सिरोही में हुई। साल 2002 में वे डीआईजी बनें, इसी तरह आगे साल 2005 में आरपीए निदेशक और 2007 में आईजी के तौर पर नियुक्त हुए। साल 2012 में एमएल लाठर को एडीजी बनाया गया। 2019 में उन्होंने बतौर डीजी क्राइम लॉ एंड ऑर्डर की कमान संभाली। डीजी क्राइम के बाद अतिरिक्त डीजीपी की दी गई जिम्मेदारी दी गई।

यूपीएससी के सामने थे तीन नाम
आपको बता दें कि पूर्व डीजीपी भूपेंद्र सिंह यादव के वीआरएस लेने के बाद डीजीपी के तौर पर UPSC को तीन नाम भेजे गए थे। हालांकि इसमें पहले पायदान पर डीजीपी लाठर ही थे। वहीं इन 3 नामों में राजीव दासोत और अक्षय मिश्र का नाम भी शामिल था। मिली जानकारी के अनुसार एमएल लाठर के अपेक्स स्केल में प्रमोट भी किया गया है। उल्लेखनीय है कि मोहन लाल लाठर हरियाणा राज्य से ताल्लुक रखते हैं। ये 1987 बैच के IPS अफसर है।