मध्य प्रदेशराज्य

हमीदिया के बीकाम आनर्स के साथ नूतन और MLB के तीन कोर्स भी नहीं खोल सके एडमिशन का एकाउंट

 भोपाल
उच्च शिक्षा विभाग की चौथे चरण की सीएलसी (कालेज लेवल काउंसलिंग) दस नवंबर तक चलेगी। एक सामान्य और तीन सीएलसी के राउंड होने के बाद विभाग हमीदिया कालेज के बीकाम आनर्स में एक भी प्रवेश नहीं करा सका है। भोपाल के 11 में से तीन कालेजों के चार कोर्स में भी एक भी प्रवेश नहीं हुए हैं।  

राजधानी के सबसे बड़े हमीदिया कालेज से बीकाम आनर्स की डिग्री को विद्यार्थियों ने नकार दिया है। इसलिए चार काउंसलिंंग होने के बाद भी वहां एक भी प्रवेश नहीं हुए हैं। यहीं कोर्स की पसंद करने के मामले में छात्राएं भी छात्राओं से काफी आगे हैं। नूतन कालेज राजधानी का सबसे बड़ा और पुराना कालेज है। नूतन कालेज के पीजी डिप्लोमा होस्पिटल सर्विस की 44 सीटों पर एक भी छात्रा ने दाखिला नहीं लिया है। वहीं महारानी लक्ष्मीबाई कालेज के डाईडिटेशन (आहार विशेषज्ञ) की 22 और पीजीडीसी की 48 सीटें भी छात्राओं को अपनी तरफ आकर्षित नहीं कर सकती हैं।

उक्त चार कोर्स का भविष्य चौथे चरण की सीएलसी पर टिक गया है। क्योंकि वर्तमान सत्र में एक भी प्रवेश नहीं होता है, तो उच्च शिक्षा विभाग उन कोर्स को बंद भी करा कसता है। चौथे चरण की सीएलसी में प्रवेश लेने के लिए कल नये पंजीयन का अंतिम दिन हैं। अभी तक यूजी में छह हजार और पीजी में एक हजार पंजीयन हो चुके हैं। जबकि यूजी में सवा दो हजार सत्यापन हो चुके हैं, लेकिन लगातार अवकाश होने के कारण पीजी में कोई सत्यापन नहीं हो सका है। इसलिए अब आज से चार नवंबर तक यूजी के साथ पीजी के सत्यापन कालेजों से हो सकेंगे। इसके बाद विभाग पांच से दस नवंबर तक कालेज पहुंचे विद्यार्थियों को प्रवेश देगा।

पांच नवंबर से विद्यार्थी अपनी पसंदीदा कालेज में रिक्त सीटों पर प्रवेश लेने सुबह साढ़े दस से दोपहर डेढ़ बजे तक पहुंचकर रिपोर्ट करेंगे। इस दौरान उन्हें प्रपत्र जमा करना होगा। इसी के आधार पर कालेज प्राचार्य तीन बजे विद्यार्थियों की मेरिट जारी करेंगे। तब प्राचार्य मेरिट में स्थान हासिल करने वाले विद्यार्थियों को लाउड स्पीकर पर पुकार कर फीस जमा कराएंगे। विद्यार्थी रात 12 बजे तक आनलाइन फीस जमा कर पाएंगे। विद्यार्थी फीस जमा नहीं करते हैं, तो उन्हें प्रवेश लेने अगले दिन इसी प्रक्रिया में दोबारा शामिल होना होगा।

भोपाल में 78 फीसदी हो चुके हैं दाखिले
राजधानी के एमव्हीएम, नरेला, नवीन, भेल, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, नूतन, एमएलबी, गीतांजलि, स्टेट लॉ, संस्कृत और हमीदिया कालेज में यूजी, पीजी और डिप्लोमा की 18 हजार 774 सीटें हैं, जिसमें अभी तक प्रवेश 13 हजार 659 प्रवेश हुए हैं। करीब 28 फीसदी सीटें रिक्त बनी हुई हैं। अभी तक किसी भी कालेज के किसी भी कोर्स में शत प्रतिशत प्रवेश नहीं हुए हैं।

यहां एक से नौ तक प्रवेश

  • कालेज-कोर्स-सीटें-प्रवेश
  • गीतांजलि-इलेक्ट्रिानिक्स-44-तीन
  • हमीदिया-उर्दू-46 -नौ
  • एमएलबी-कैमिस्ट्री-सात-एक
  • म्युजिक-वोकल-15-पांच
  • इलेक्ट्रनिक्स-51-पांच
  • एक्सटेंशन एंड कम्यूनिकेशन-२३-दो
  • बोटनी कैमिस्ट्री इंडस्ट्री कैमिस्ट्री सात     दो
  • कैमिस्ट्री, इंडस्ट्री कैमिस्ट्री मैथामेटिक्स 14 तीन
  • कैमिस्ट्री, इंडस्ट्री कैमिस्ट्री जूलोजी सात दो
  • भेल     क्लिनिक न्यूट्रीशन कैमिस्ट्री जूलोजी 44 नौ
  • टूरिज्म एंड मैनेजमेंट-46-पांच
  • नूतन कालेज-बीएचएससी फैशनडिजानिंग-24-सात
  • इकोनोमिक्स     15     चार
  • पीडीसीए        29     सात
  • टैक्सटाइम एंड क्लोथिंग    22     आठ
  • ह्युमन डेवलपमेंट         20     सात
  • म्युजिक वोकल        15     पांच

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close