बिज़नेस

सेंसेक्स 10 महीने के उच्च स्तर पर, 553 अंक उछाल

 मुंबई
 देश के शेयर बाजारों में लगातार पांचवें दिन तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स शुक्रवार को 553 अंक उछलकर 10 महीने के उच्च स्तर के करीब बंद हुआ। विदेशी पूंजी प्रवाह के बीच रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी तथा एचडीएफसी बैंक में तेजी के साथ बाजार में मजबूती रही। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 552.90 अंक यानी 1.34 प्रतिशत की बढ़त के साथ 41,893.06 अंक पर बंद हुआ। इससे पहले, सेंसेक्स 14 जनवरी को रिकार्ड 41,952.63 अंक पर बंद हुआ था। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 143.25 अंक यानी 1.18 प्रतिशत की बढ़त के साथ 12,263.55 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक लाभ में रिलायंस इंडस्ट्रीज रही। इसमें 3.78 प्रतिशत की तेजी आयी। इसके अलावा बजाज फिनसर्व, इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक और कोटक बैंक में भी तेजी रही। दूसरी तरफ जिन शेयरों में गिरावट दर्ज की गयी,उनमें मारुति, भारती एयरटेल, एशियन पेंट्स, अल्ट्राटेक सीमेंट और नेस्ले इंडिया शामिल हैं। सप्ताह के दौरान सेंसेक्स 2,278.99 अंक यानी 5.75 प्रतिशत जबकि निफ्टी 621.15 अंक यानी 5.33 प्रतिशत मजबूत हुआ है। कोटक महिंद्रा लाइफ इंश्योरेंस के इक्विटी प्रमुख हेमंत कानावाला ने कहा कि वैश्विक शेयर बाजारों में तेजी के अनुरूप घरेलू बाजार बढ़त में रहे। ऐसा लगता है कि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अनिश्चितता को फिलहाल ज्यादा महत्व नहीं दिया गया। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘अमेरिकी चुनाव को लेकर सकारात्मक वैश्विक धारणा, फेडरल रिजर्व का खुले बाजार में बांड की खरीद-बिक्री, आर्थिक गतिविधियों में सुधार से बाजार धारणा को बल मिला।’’ उन्होंने कहा कि सप्ताह के दौरान बाजार में तेजी रही है। भारतीय बाजारों में तेजी बनी रही जिसका प्रमुख कारण कंपनियों के बेहतर तिमाही परिणाम तथा विदेशी पूंजी प्रवाह जारी रहना है। अमेरिका में मतगणना के ताजा रूझान में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन राष्ट्रपति पद के दौड़ में आगे चल रहे हैं। बृहस्पतिवार की रात तक बाइडेन कुल 538 इलेक्ट्रॉल कॉलेज वोट में से जरूरी 270 में से 253 हासिल कर चुके थे जबकि ट्रंप को 213 वोट मिले हैं। एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई नुकसान में रहा जबकि हांगकांग, सोल और तोक्यो लाभ के साथ बंद हुए। यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में गिरावट का रुख रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.93 प्रतिशत की गिरावट के साथ 40.14 रुपये प्रति डॉलर पर कारोबार कर रहा था। शेयर बाजारों के पास उपलब्ध अस्थायी आंकड़े के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल रहे। उन्होंने बृहस्पतिवार को 5,368.31 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे। इधर, विदेशी विनिमय बाजार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 28 पैसे मजबूत होकर 74.08 पर बंद हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button