खेल

सुनील गावस्कर ने हार के लिए विराट कोहली की बैटिंग को ठहराया जिम्मेदार

 नई दिल्ली 
पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) के खिताब जीतने में नाकाम रहने के लिए कप्तान कोहली के बल्ले से खराब प्रदर्शन को भी जिम्मेदार माना है जो अपने द्वारा स्थापित उच्च मानकों की बराबरी करने में नाकाम रहे। शुक्रवार को अबुधाबी में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ एलिमिनेटर में छह विकेट की हार के साथ बैंगलोर की टीम टूर्नामेंट से बाहर हो गई।

गावस्कर ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा कि उसने (कोहली ने) अपने लिए जो उच्च स्तर स्थापित किए हैं उसे देखते हुए संभवत: वह भी कहेगा कि वह उनकी बराबरी नहीं कर पाया और यह उन कारणों में से एक है जिसके कारण आरसीबी की टीम खिताब जीतने में नाकाम रही। उन्होंने कहा, ''क्योंकि जब वह एबी डिविलियर्स के साथ बड़ी पारियां खेलता है तो टीम बड़ा स्कोर खड़ा करती है।'' कोहली ने 121.35 के स्ट्राइक रेट से 15 मैचों में 450 से कुछ अधिक रन बनाए और उनकी टीम को ज्यादातर समय बीच के ओवरों में रन बनाने के लिए जूझना पड़ा।
 
महान बल्लेबाज गावस्कर ने कहा कि आरसीबी की गेंदबाजी में धार की कमी थी जिससे कि वे विरोधी टीमों को लगातार चुनौती देकर जीत दर्ज कर सकें। उन्होंने कहा कि गेंदबाजी हमेशा से उनका कमजोर पक्ष रहा है। इस टीम में आरोन फिंच भी हैं, जो अच्छे टी-20 खिलाड़ी हैं, युवा देवदत्त पडीक्कल ने अच्छी शुरुआत की और फिर टीम में विराट कोहली और एबी डिविलियर्स हैं।

गावस्कर का साथ ही मानना है कि टीम को ऐसा खिलाड़ी ढूंढना होगा जो फिनिशर की भूमिका निभा सके। उन्होंने सुझाव दिया कि शिवम दूबे इस भूमिका में फिट हो सकते हैं। सनराइजर्स के खिलाफ हार आरसीबी की लगातार पांचवीं हार थी। टीम ने अपने शुरुआती 10 में से सात मैच जीतकर अच्छी शुरुआत की थी लेकिन इसके बाद राह भटक गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button