अंतरराष्ट्रीय

सर्दियों ने दस्तक दे दी: अक्टूबर में दिल्ली की ठंड ने तोड़ा 26 सालों का रिकॉर्ड: मौसम विभाग 

 नई दिल्ली 
दिल्ली समेत उत्तर भारत में सर्दियों ने दस्तक दे दी है। भारत के मौसम विभाग (IMD) के वैज्ञानिकों ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को न्यूनतम तापमान 12.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अक्टूबर में  पिछले 26 सालों में इतना कम तापमान नहीं देखा गया है। ऐसा बादलों की हल्की परत और हवा की धीमी गति की वजह से देखा गया। आईएमडी के अनुसार, वर्ष के इस समय का सामान्य न्यूनतम तापमान 15-16 डिग्री सेल्सियस है। आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा, पिछली बार अक्टूबर में दिल्ली में ऐसा कम तापमान जो 1994 में दर्ज किया गया था। 31 अक्टूबर, 1994 को शहर का न्यूनतम तापमान 12.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। 31 अक्टूबर, 1937 को शहर ने इस महीने का सबसे कम तापमान – 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया था।

आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कहा कि क्लाउड कवर की अनुपस्थिति साल के इस समय सामान्य से कम तापमान होने का कारण थी। उन्होंने कहा, इसके पीछे मुख्य कारण यह है कि हमारे पास बहुत अधिक बादल कवर नहीं थे, जिससे सतह तेजी से ठंडी हो जाती है। अगले दो-तीन दिनों में भी न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।
 
आईएमडी के वैज्ञानिक ने कहा कि न्यूनतम तापमान 1 नवंबर तक दिल्ली में 11 डिग्री सेल्सियस तक गिरने की संभावना है। कम तापमान और कम हवा की गति भी शहर में वायु प्रदूषण को बढ़ाती है – जो हर साल सर्दियों की शुरुआत के साथ एक वार्षिक स्वास्थ्य संकट बन गया है। आईएमडी के पर्यावरण निगरानी अनुसंधान केंद्र के प्रमुख वीके सोनी ने कहा, “प्रदूषण के स्तर को निर्धारित करने में तापमान बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। यदि सुबह का तापमान कम होता है तो प्रदूषण के कण जमीन के करीब फंस जाते हैं। कम तापमान एक कारण था जिसने गुरुवार को प्रदूषण के स्तर को गंभीर क्षेत्र के करीब रखा था।" दिल्ली ने गुरुवार को 395 ("बहुत खराब" श्रेणी) का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) रीडिंग दर्ज की और इससे पहले राजधानी के कुछ क्षेत्रों में हवा की गुणवत्ता "गंभीर" (400 से ऊपर) थी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close