मध्य प्रदेशराज्य

संक्रमण कम हुआ है यह संतोष की बात है लेकिन अभी रूकना नहीं है, मंजिल दूर है : मुख्यमंत्री चौहान

भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की दर प्रदेश में घटी है, यह संतोष की बात है। लेकिन मंजिल अभी दूर है, हमें अपने प्रयासों को रोकना नहीं है, बल्कि और गति के साथ आगे बढ़ना है। प्रदेश को कोरोना मुक्त बनाकर ही हम चैन की साँस लेंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने रविवार को ग्वालियर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ग्वालियर–चंबल संभाग के जिला, ब्लॉक, ग्राम और वार्ड स्तरीय क्राइसिस मेनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों को संबोधित किया।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिये किल कोरोना-3 अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत ग्रामीण क्षेत्र के हर घर तक दल पहुँच रहा है और लोगों का परीक्षण कर उन्हें दवा वितरण का कार्य कर रहा है। इस सर्वेक्षण कार्य में क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य और उनके सहयोगी भी दल के साथ जाएँ, यह अपेक्षा है। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक लोगों का टेस्ट कराया जाए ताकि जो भी संक्रमित सामने आए उनका उपचार सुनिश्चित किया जा सके।

मुख्यमंत्री चौहान ने सदस्यों से कहा कि वे ग्रामीणों को जागरूक करें कि वे कोरोना से डरें नहीं बल्कि सावधानी बरतें। किसी को भी सर्दी, खांसी या बुखार है तो छुपाएँ नहीं बल्कि बताएँ, ताकि उसका उपचार समय रहते किया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि यह समय संयम का है। बिना काम के कोई भी व्यक्ति घर से न निकले। कोविड गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे कोई आयोजन न किए जाएँ, जिसमें भीडभाड़ हो। शादी-विवाह, धार्मिक आयोजन एवं अन्य आयोजन अभी बिल्कुल न किए जाएँ। वर्तमान समय अपने आपको बचाने का है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमने गरीबों को पाँच माह का राशन नि:शुल्क उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है। तीन माह का प्रदेश सरकार द्वारा तथा दो माह का केन्द्र सरकार द्वारा प्रदाय किया जा रहा है। यह राशन सभी जरूरतमंदों तक पहुँचे, इसकी मॉनीटरिंग भी की जाए। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना काल में कई बच्चों ने अपने माँ-बाप खो दिए हैं ऐसे बच्चों के लिये भी हमने निर्णय लिया है कि पाँच हजार रूपए प्रतिमाह पेंशन, नि:शुल्क खाद्यान्न तथा शिक्षा की व्यवस्था भी सरकार करेगी। उन्होंने क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदसयों तथा जिला कलेक्टरों से कहा कि अगर उनके जिले में ऐसे कोई बच्चे हैं, तो उनकी सूची तैयार की जाए, जिससे उन्हें सरकार की तरफ से मदद दी जा सके।

मुख्यमंत्री चौहान ने सदस्यों से अपेक्षा की है कि अपने-अपने स्तर पर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये जनता को साथ लेकर सकारात्मक माहौल बनाने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि कोविड की चेन को तोड़ने के लिये जो कोरोना जनता कर्फ्यू लगाया गया है, उसका सख्ती से पालन भी शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में हो यह भी सुनिश्चित किया जाए।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सभी के प्रयासों से कोरोना हारेगा और ग्वालियर-चंबल संभाग जीतेगा। कोरोना संक्रमण समाप्त होगा और हम फिर सामान्य जीवन जीयेंगे। संकट की इस घड़ी में हम सबको एकजुटता के साथ कोरोना को समाप्त करना होगा।

क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की वर्चुअल बैठक में केन्द्रीय कृषि, पंचायत एवं एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, क्षेत्रीय सांसद विवेक नारायण शेजवलकर सहित क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य और अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button