Home Uncategorized विभाजन की मानसिकता को आज का हिंदुस्तानी नहीं करेगा बर्दाश्त : मंत्री...

विभाजन की मानसिकता को आज का हिंदुस्तानी नहीं करेगा बर्दाश्त : मंत्री डॉ. मिश्रा

45
0

भोपाल

गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि आज कोई भी हिंदुस्तानी , विभाजन की मानसिकता वालों को बर्दाश्त करने के लिए तैयार नहीं है। उन्होंने विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर रानी कमलापति रेलवे स्टेशन भोपाल में डिजिटल फोटो प्रदर्शनी का अनावरण करते हुए यह बात कही। मंत्री डॉ. मिश्रा ने रेलवे स्टेशन परिसर में 100 फीट ऊँचा तिरंगा भी फहराया। कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी देवीशरण और श्रीमती नारायण देवी अग्रवाल का अभिनंदन किया गया। रेलवे डीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय, एडीजी अशोक अवस्थी, बंसल ग्रुप के एमडी सुनील बंसल सहित बड़ी संख्या में अधिकारी, कर्मचारी और आम नागरिक मौजूद रहे।

गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने आजादी के अमृत महोत्सव में आमजन के मन में देश-भक्ति के भाव मजबूत करने के लिए 'हर घर तिरंगा' अभियान में हर घर पर तिरंगा फहराने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश आज एक बार पुनः विश्व गुरु बनने की ओर अग्रसर है। डॉ.मिश्रा ने कहा कि हमारे राष्ट्र के अतिरिक्त संसार में और कहीं भी देश को माता का दर्जा प्रदान करने की मिसाल नहीं मिलती है। हमारे देश में राष्ट्र को 'भारत माता' कह कर पूजा जाता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान पर आज पूरे देश में  करोड़ों राष्ट्रध्वज शान से लहरा रहे हैं।

मंत्री डॉ. मिश्रा ने विभाजन विभीषिका के स्मृति दिवस पर कहा कि देश ने वेद से विवेकानंद जी , उपनिषद से उपग्रह  , हमारे आराध्य कृष्ण भगवान "मोहन" से  मोहनदास करमचंद गांधी और भीम से लेकर डॉ. भीमराव अम्बेडकर तक की यात्रा की है। विभाजन किसी भी प्रकार का हो पीड़ादायी होता है। देश ने विभाजन की विभीषिका को झेला है। वसुधैव-कुटुंबकम का संदेश देने वाले देश को विभाजन का दंश झेलना पड़ा। इस त्रासदी को शब्दों में बयाँ नहीं किया जा सकता। इतना जरूर है कि आज कोई भी हिंदुस्तानी विघटनकारी और विभाजन को बढ़ावा देने वाली मानसिकता के लोगों को बर्दाश्त करने के लिए तैयार नहीं है। हम सभी को संकल्प लेना होगा कि ऐसी मानसिकता को पल्लवित और पोषित करने वालों को हम आगे नहीं बढ़ने देंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here