राष्ट्रीय

राम लाल के दर्शन को पर्वों पर 5 लाख दर्शनार्थियों के आने की व्‍यवस्‍था करनी होगी

अयोध्‍या
श्री राम जन्‍मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्‍ट ने अयोध्‍या में राम मंदिर के आसपास 70 एकड़ में विकसित होने वाले परिसर के लिए जनता से सुझाव मांगे हैं। मुख्‍य मंदिर विशेषज्ञों की देखरेख में नागर शैली में बन रहा है, लेकिन बाकी संरचनाएं के लिए ये सलाह आमंत्रित की गई है। अयोध्‍या में इसी सप्‍ताह राम मंदिर निर्माण पर हुई बैठक में इस पर विचार किया गया। इसमें अनुमान लगाया गया कि आम दिनों में हर रोज एक लाख श्रद्धालु मंदिर में दर्शन के लिए आएंगे, वहीं विशेष पर्वों पर 5 लाख दर्शनार्थियों दर्शनार्थियों के आने की व्‍यवस्‍था करनी होगी

ट्रस्‍ट ने पुष्‍करणी, यज्ञ मंडपम, अनुष्‍ठान मंडपम, कल्‍याण मंडपम और राम जन्‍मोत्‍सव, हनुमान जयंती, रामचर्चा और सीता विवाह जैसे आयोजनों के लिए भवनों के संबंध में ये सलाह मांगी है। ट्रस्‍ट की ओर से कहा गया है कि ये सभी भवन वास्‍तु या स्‍थापत्‍य वेदों पर आध‍ार‍ित होने चाहिए।

नलनील टीला, सीता की रसोई, कुबेर टीला और अंगद टीला जैसे ऐतिहासिक स्‍थानों का डिजाइन इस तरह बनाया जाएगा कि उनका समावेश मुख्‍य संरचना के साथ हो सके। इसके अलावा बड़ी संख्‍या में आने वाले श्रद्धालुओं और दर्शनार्थियों के लिए भी व्‍यवस्‍था की जाएगी।

मंदिर परिसर में श्री राम डिजिटल लाइब्रेरी, रिसर्च सेंटर, म्‍यूजियम, वर्चुअल रिएलिटी की सुविधाएं, ऑडिटोरियम, कन्‍वेंशन सेंटर, मिनी थियेटर, गौशाला, चुनिंदा वीआईपी और पुजारियों के आवास वगैरह का भी निर्माण किया जाएगा।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close