Home छत्तीसगढ़ राज्य शासन द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ में शुष्क दिवस घोषित

राज्य शासन द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ में शुष्क दिवस घोषित

51
0

रायपुर
राज्य शासन द्वारा 19 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी के दिन सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ में शुष्क दिवस घोषित किया गया है। इसी तरह कृष्ण जन्माष्टमी पर नगरीय निकायों की सीमा में स्थित पशुवध गृह एवं मांस बिक्री दुकाने बंद रहेगी। वाणिज्यिक कर (आबकारी) विभाग द्वारा शुष्क दिवस तथा नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा पशुवध गृह बंद रखने के संबंध में मंत्रालय से आदेश जारी कर दिया गया है। शुष्क दिवस में प्रदेश के जिलों में स्थित समस्त देशी मदिरा एवं विदेशी मदिरा की फुटकर दुकानों, रेस्टोरेंट बार, होटल बार, क्लब आदि बंद रखे जाएंगे। जिला, संभाग और राज्य स्तरीय उड?दस्तों द्वारा अवैध मदिरा के परिवहन एवं विक्रय रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर कृष्ण जन्माष्टमी के पावन अवसर पर छत्तीसगढ़ में शुष्क दिवस घोषित किया गया है। मंत्रालय से शुष्क दिवस के संबंध में जारी आदेश में कहा गया है कि प्रदेश के जिलों में स्थित समस्त देशी मदिरा एवं विदेशी मदिरा की फुटकर दुकानों, रेस्टॉरेन्ट बार, होटल-बार, क्लब आदि बंद रखा जाए। उपरोक्तानुसार घोषित शुष्क दिवस में मदिरा की कोई भी दुकान, होटल, रेस्टॉरेन्ट, क्लब आदि एवं मदिरा बेचने, परोसने वाले अन्य प्रतिष्ठान, व्यक्ति, चाहे वह जो भी हो, को मदिरा बेचने व परोसने की अनुमति न दी जाए। गैर मालिकाना क्लबों, रेस्टोरेन्टों, स्टार होटलों आदि और किसी के भी द्वारा चलाए जाने वाले होटलों को भी उपरोक्तानुसार घोषित शुष्क दिवस में मदिरा बेचने व परोसने की अनुमति न दी जाए। उक्त अवधि के दौरान मदिरा के व्यक्तिगत भण्डारण पर एवं गैर लायसेंस प्राप्त परिसरों में मदिरा के भण्डारण पर सख्ती से रोक लगाई जाए और उन्हें जप्त करने की कार्यवाही की जाए। समस्त जिला कार्यालयों एवं संभागीय एवं राज्य स्तरीय उड?दस्ता के द्वारा अवैध मदिरा के परिवहन एवं विक्रय के रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठाये जायें, इस हेतु जांच दल गठित कर अवैध मदिरा संग्रहण के संभावित ठिकानों एवं वाहनों की जांच किया जाए एवं दोषियों के विरूद्ध अपराध कायम किया जाए। अधिकारियों को उपरोक्त निदेर्शों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित् करने कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here