अंतरराष्ट्रीय

राजधानी दिल्ली में पहल, अब कोरोना संक्रमित होने पर मिलेगी फ्री एंबुलेंस सुविधा, बस करना होगा ये काम

नयी दिल्ली
राजधानी दिल्ली में कोरोना के केस फिर से बढ़ने लगे हैं। त्योहारी सीजन में बाजारों पर भीड़ लग रही है। जिसके कारण सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है। दिल्ली सरकार कोरोना वायरस से बचाव के लिए नए नए तरीके भी इजाद कर रही है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने बृहस्पतिवार को एक मोबाइल ऐप जारी किया। इस ऐप के जरिए कोरोना वायरस से संक्रमित ऐसे मरीज स्वास्थ्य देखभाल केंद्र जाने के लिए ई-वाहन की सेवा नि:शुल्क ले सकते हैं।

ऐसे काम करेगा ये ऐप
अधिकारियों ने बताया कि 'जीवन सेवा ऐप' को, दिल्ली में संक्रमित व्यक्ति को एसएमएस के जरिए भेजे गए लिंक और क्यू आर कोड से डाउनलोड किया जा सकता है। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने एक बयान में बताया कि इस ऐप को ईवीईआरए के सहयोग से जारी किया गया है। इसके जरिए कोरोना वायरस से संक्रमित ऐसे मरीज जो गंभीर नहीं हैं, उन्हें दिल्ली में स्वास्थ्य देखभाल केंद्र ले जाने के लिए ई-वाहनों का एंबुलेंस के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा और यह सेवा निशुल्क रहेगी। जैन ने कहा, 'हम जीवन सेवा ऐप आज जारी कर रहे हैं जिससे घर में पृथक-वास में रह रहे दिल्ली के नागरिकों को जरूरत के समय सहूलियत मिलेगी।' उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य जांच से लेकर अस्पताल में भर्ती कराने के लिए एंबुलेंस की आवश्यकता सिर्फ एक क्लिक करने पर पूरी हो जाएगी।

ऐप से बुक हो जाएगी कैब
बयान में मंत्री के हवाले से कहा कि इस ऐप से संक्रमित व्यक्ति ई-वाहन की सेवा ले सकेगा जो निशुल्क होगी। हर फेरे के बाद प्रत्येक वाहन को अच्छी तरह से संक्रमण मुक्त किया जाएगा। बयान में कहा गया है कि मरीज ओटीपी के जरिए पंजीकरण कराकर ऐप से कैब बुक करा सकता है। यह सेवा 24 घंटे उपलब्ध रहेगी। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, प्रशिक्षित चालक कोविड-19 से सुरक्षा के नए दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे जैसे कि पीपीई किट पहनना और सैनेटाइजर आदि रखना। उनका केबिन भी पृथक होगा।

दिल्ली में कोरोना वायरस
दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस के एक दिन में सबसे ज्यादा 8593 नए मरीज सामने आए जबकि 85 संक्रमितों की मौत हुई। नए मामलों के बाद दिल्ली में संक्रमितों की कुल संख्या 4.59 लाख से अधिक हो गई जबकि मृतक संख्या 7228 पर पहुंच गई है। दिल्ली में बुधवार तक गृह-पृथक-वास में रह रहे लोगों की संख्या 24,435 थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button