उत्तर प्रदेशराज्य

मुनव्वर राणा ने फ्रांस में हुए कत्लेआम को बताया जायज

लखनऊ
फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद (Paigambar Cartoon) के विवादित कार्टून के बाद से एक-एक कर कई हत्याएं की गईं। टीचर की हत्या के बाद फ्रांस के एक चर्च में हमलावर ने एक महिला का गला काट दिया और दो अन्य लोगों की भी चाकू मारकर हत्या कर दी। इन हत्याओं को मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने जायज ठहराया है। मुनव्वर राणा का कहना है कि अगर कोई हमारी मां का या हमारे बाप का ऐसा कार्टून बना दे तो हम तो उसे मार देंगे। मुनव्वर राणा इन दिनों अपनी शायरी से ज्यादा अपने बयानों की वजह से चर्चा में रहते हैं।

वहीं, मुनव्वर राणा ने एकबात और कही। उन्होंने कहा कि एमएफ हुसैन ने हिंदू देवी-देवताओं की विवादित पेंटिंग्स बनाईं तो उस बुजुर्ग शख्स, 90 साल के बूढ़े आदमी को देश छोड़कर भागना पड़ा। मुनव्वर कहते हैं कि एमएफ हुसैन इस बात को जान चुके थे कि यदि उन्होंने ऐसा नहीं किया तो उन्हें मार दिया जाएगा। गैर मुल्क में उसकी मौत हुई। मुनव्वर राणा ने यह भी कहा, 'जब हिंदुस्तान में हजारों साल से ऑनर किलिंग को जायज मान लिया जाता है कोई सजा नहीं होती है तो फ्रांस की घटना को नाजायज कैसे कहा जा सकता है।'

'मजहब एक खतरनाक खेल है'
मुनव्वर राणा ने यह भी कहा, '470 साल पहले बाबरी मस्जिद के सिलसिले में जिन बादशाहों ने गलती की हो। मजहबी मामले में जिसने भी मंदिर तोड़कर मस्जिद बना दिया। ऐसे में पूरी कौम को गालियां खानी पड़ीं। मैंने यह कहा कि मजहब एक खतरनाक खेल है। इससे लोगों को दूर रहना चाहिए।'

'पाकिस्तान के लोगों पर लगे रोक'
उधर, फ्रांस में आतंकी हमलों की बढ़ती संख्या के बाद अब प्रवासियों की एंट्री पर प्रतिबंध की मांग तेज होती दिख रही है। इस बीच फ्रांस की विपक्षी नेता मरीन ले पेन ने पाकिस्तान से आने वाले प्रवासियों पर रोक की मांग कर नई बहस छेड़ दी है। शुक्रवार को ही इस्लामाबाद में हजारों लोगों की हिंसक भीड़ ने फ्रांसीसी दूतावास पर हमले का प्रयास किया था। वहीं, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी इन दिनों लगातार फ्रांस के खिलाफ बयान दे रहे हैं।

'फ्रांसीसी राजदूत का गला काटने…'
मरीन ले पेन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि बांग्लादेश में आज हुए हिंसक विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए मैं राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर बांग्लादेश और पाकिस्तान से आने वाले प्रवासियों पर तत्काल रोक लगाने की मांग करती हूं। उन्होंने दावा किया कि बांग्लादेश में प्रदर्शनकारियों ने फ्रांसीसी राजदूत का गला काटने की बात की। उनके इस मांग को बड़ी संख्या में फ्रांसीसी लोगों का समर्थन भी मिल रहा है।

'दूतावास जाने की कोशिश की'
पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में प्रदर्शन हिंसक हो गया जब करीब 2000 लोगों ने फ्रांस के दूतावास की ओर जाने की कोशिश की। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठियां चलाई। पाकिस्तान के लाहौर में प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी की और कई सड़कों को अवरुद्ध कर दिया। मुल्तान में प्रदर्शनकारियों ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का पुतला जलाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button