उत्तर प्रदेशराज्य

मुख्य कंपनियों के हाथ में कमान, राम मंदिर ट्रस्ट ने निर्माण के लिए आमंत्रित किए सुझाव

लखनऊ 
श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि ने रविवार को कहा, श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए देश भर के वास्तुकारों और संतों से सुझाव आमंत्रित करेगा। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि ट्रस्ट ने यह भी निर्णय लिया कि टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड परियोजना प्रबंधन सलाहकार के रूप में काम करेगा और निर्माण कार्य में लार्सन एंड टुब्रो की सहायता करेगा।

स्वामी गोविंद देव गिरि ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण समिति की तीन दिवसीय बैठक के बाद मीडियाकर्मियों को सूचित करते हुए कहा, "हमारी वेबसाइट और समाचार पत्रों में विज्ञापनों के माध्यम से, हम राम मंदिर के निर्माण के लिए देश भर के वास्तुकारों से सुझाव आमंत्रित करेंगे।"
 
टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड की भूमिका के बारे में अटकलें खत्म करते हुए चंपत राय ने कहा: "लार्सन एंड टुब्रो मुख्य कंपनी है जो राम मंदिर का निर्माण कार्य करेगी।" राम मंदिर की सुरक्षा और प्रस्तावित ढांचे के स्थायित्व सहित विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श के बाद बैठक में ये निर्णय लिए गए। अयोध्या राम मंदिर निर्माण समिति की बैठक सर्किट हाउस में आयोजित की गई थी। बैठक में राम मंदिर निर्माण से जुड़े कई बिंदुओं पर विचार विमर्श किया गया। 

टाटा कंसलटिंग इंजिनियर्स लिमिटेड  व एलएंडटी के अधिकारियों के साथ ट्रस्ट के पदाधिकारी व सदस्य भी बैठक में शामिल हुए थे। बैठक में राम मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र के साथ ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय, सदस्य अनिल मिश्र व ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरि महाराज भी मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button