मध्य प्रदेशराज्य

मंत्री इमरती देवी के अपमान के विरोध में प्रदेश में मौन व्रत का करेगी बीजेपी

ग्वालियर

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री एवं डबरा विधानसभा से बीजेपी प्रत्याशी इमरती देवी के खिलाफ चुनावी सभा में की गई अमर्यादित टिप्पणी के खिलाफ बीजेपी मुखर हो गई है। मुख्यमंत्री के दो घंटे के मौन व्रत की घोषणा के बाद बीजेपी ने इसे प्रादेशिक कार्यक्रम बना दिया है। पार्टी नेता सोमवार 19 अक्टूबर को जिला स्तर पर दो घंटे के लिए मौन व्रत करेंगे। ग्वालियर में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा शामिल होंगे। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल में कार्यक्रम में शामिल होंगे।

कमलनाथ ने डबरा में पार्टी प्रत्याशी सुरेश राजे के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा में बोलते हुए बीजेपी प्रत्याशी एवं प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी को आइटम कहकर अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया। बीजेपी ने इसे एक दलित महिला सहित प्रदेश की बहन बेटियों का अपमान कह दिया। ग्वालियर विधानसभा के बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन में रविवार को शामिल होने आये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ भले नहीं करें, लेकिन मैं प्रायश्चित करूंगा क्योंकि मुख्यमंत्री पद पर रहा व्यक्ति कैसे किसी महिला, बहन या बेटी का अपमान कर सकता है। उन्होंने मंच से ही दो घंटे के मौन व्रत की घोषणा कर दी।

 प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने बीजेपी प्रत्याशी एवं प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी को आइटम कहकर एक बड़ा चुनावी मुद्दा दे दिया है। बीजेपी इसे प्रदेश की महिलाओं और दलित बेटी का अपमान बताकर कमलनाथ पर हमलावर हो गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ पर हमला करते हुए कहा है कि धिक्कार है कमलनाथ पर जो एक महिला और दलित बेटी के लिए ऐसे घटिया शब्दों का इस्तेमाल करते हैं। कमलनाथ याद रखें कि ये वो देश है जहां द्रौपदी के अपमान पर महाभारत हो गया था। प्रदेश की जनता आपको माफ नहीं करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद का भी अपमान किया है। पता नहीं वो प्रायश्चित करेंगे कि नहीं, इसलिए मैं करूंगा। पिछले कुछ दिनों से भाषाई रूप स प्रदूषित हुई मध्य प्रदेश की सियासत में रविवार को डबरा में एक नया शब्द जुड़ गया। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पार्टी प्रत्याशी सुरेश राजे के समर्थन में आयोजित सभा में बीजेपी प्रत्याशी एवं महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी को आइटम कह दिया। पूर्व मुख्यमंत्री के एक दलित महिला के लिए कहे गए अमर्यादित बोल को बीजेपी ने अब चुनावी मुद्दा बना लिया है।

ग्वालियर पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे मध्य प्रदेश की बेटियों और बहनों का अपमान कहा। ग्वालियर विधानसभा से बीजेपी प्रत्याशी एवं प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के समर्थन में आयोजित सभा में उन्होंने कमलनाथ और कांग्रेस पर जमकर हमले किये। उन्होंने कहा कि जिस तरह की भाषा कांग्रेस बोल रही है, वो उसकी मानसिकता को बताता है। उनके बयान ये बताते हैं कि उसके नेता महिलाओं का कितना सम्मान करते हैं। मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ ने जो शब्द कहे, वो केवल इमरती देवी का अपमान नहीं है। वो मध्यप्रदेश की बहन और बेटियों का अपमान है। पता नहीं कांग्रेस को क्या हो गया है। कमलनाथ भी मुख्यमंत्री रहे हैं। जिस बेटी ने बरसों तक कांग्रेस की सेवा की, उनके बारे में आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं। क्या गरीब की बेटी का अपमान किया जायेगा, क्या बहनों और बेटियों का सम्मान नहीं है। क्या उनके सम्मान को पैरो तले कुचला जायेगा?

मुख्यमंत्री ने कहा कि धिक्कार है कमलनाथ जी पर कि इतनी घटिया स्तर की राजनीति कर रहे हैं। मुझे आश्चर्य होता है वे मुख्यमंत्री रहे हैं। मैं मुख्यमंत्री हूं, लेकिन हमने कभी अपमान नहीं किया। मन आत्म ग्लानि से भर गया है। मुझे पता नहीं कि वे प्रायश्चित करेंगे कि नहीं लेकिन मैं करूंगा। मैं भोपाल में गांधी जी की प्रतिमा के नीचे दो घंटे मौन व्रत रखूंगा।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close