राष्ट्रीय

भटके हुए चीनी सैनिक की इंडियन आर्मी ने मदद कर ,वापस लौटा दिया गया

लद्दाख
लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पार भटककर चले आए एक चीनी सैनिक को भारतीय सेना ने सोमवार को पकड़ लिया। चीनी सेना के अधिकारियों की अपील के बाद मंगलवार रात उसे वापस भेज दिया गया। इस दौरान भारतीय सेना ने चीनी सैनिक को भोजन और गर्म कपड़ों के अलावा मेडिकल सुविधाएं भी दीं, ताकि उसे लद्दाख में मौसम की चरम परिस्थितियों से बचाया जा सके। सैनिक की पहचान कॉर्पोरल वांग या लॉन्ग के रूप में हुई है, जिसे चुमार-डेमचोक इलाके में पकड़ा गया था। भारतीय सेना के अधिकारियों ने यह जानकारी दी है।

एक रिपोर्ट में बताया गया कि पीएलए को सौंपे जाने से पहले चीनी सैनिक से आवश्यक पूछताछ की गई थी। अपने एक बयान में सेना ने बताया कि मौजूदा परिस्थितियों में स्थापित प्रोटोकॉल के तहत सीमा पार भटककर आए सैनिक को वापस भेज दिया गया। चीनी सैनिक को ऑक्सिजन, भोजन और गर्म कपड़ों के अलावा चिकित्सकीय सहायता भी दी गई ताकि उसे ऊंचे इलाकों की कठिन मौसम परिस्थितियों से बचाया जा सके।

चीनी सेना ने की थी अपील
सेना के सूत्रों ने बताया कि चीनी सेना ने अपने जवान के लापता होने के बाद भारतीय सेना से उसके बारे में जानकारी मांगी थी। सोमवार रात चीनी सेना के एक अधिकारी ने कहा कि सैनिक एक स्थानीय चरवाहे की याक वापस लाने में मदद करने के दौरान भटक गया था। अपने संदेश में अधिकारी ने कहा था कि हम आशा करते हैं कि भारतीय सेना लापता चीनी सैनिक को जल्दी से जल्दी वापस भेजने के अपने वादे पर खरा उतरेगा और वरिष्ठ कमांडरों की 7वें दौर की मीटिंग में सीमावर्ती इलाकों में शांति बनाए रखने के लिए तय समझौतौं को लागू करेगा।

लद्दाख में बढ़ा तनाव
बता दें कि लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के बीच जून में तनाव काफी बढ़ गया था। दोनों देशों की सेनाओं की आपसी झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद दोनों पक्षों में मामले को सुलझाने के लिए कई दौर की मिलिट्री लेवल पर कूटनीतिक बातचीत हुई। मामले का अभी भी कोई समाधान नहीं निकल पाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close