राजनीति

बूथ मैनेजमेंट और डोर-टू-डोर कैंपेन में जुटी पार्टियां, वोटिंग के लिए सुरक्षा चाकचौबंद

भोपाल
प्रदेश के 19 जिलों में 28 विधानसभा सीटों पर चुनाव प्रचार के आखिरी दिन रविवार को राजनीतिक दलों ने चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोक दी। शाम छह बजे से सभी जगह चुनावी सभाओं और रैलियों और चुनावी भोपुओं का शोर थम गया। अब यहां खड़े 355 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करने तीन नवंबर को मतदान होगा।

अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अरुण कुमार तोमर ने बताया कि तीन नवंबर को सभी विधानसभा क्षेत्रों में एक साथ सुबह सात बजे से शाम छह बजे के बीच मतदान होगा। इस बार मतदान के दौरान कोविड 19 की गाइडलाइन का पालन कराते हुए मतदान कराया जाएगा। मतदान के लिए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए है। मतदान केन्द्रों पर केन्द्रीय पुलिस बल की 84 कंपनियां तैनात की गई हप्त। ढाई हजार एसएएफ के जवान, दस हजार जिला पुलिस बल, सात हजार होमगार्ड और दस हजार विशेष पुलिस अधिकारी तैनात किए गए है। पुलिस ने अब तक एक हजार 493 अवैध हथियार जप्त किए है। एक लाख 52 हजार से अधिक लाइसेंसी हथियार जमा कराए जा चुके है। आठ हजार 730 गैर जमानती वारंट तामील कराये गए है। साथ ही चुनाव के दौरान अब तक 21 करोड़ से अधिक की अवैध सामग्री एवं नगदी जप्त की गई है। आनेजाने वाले वाहनों की विशेष निगरानी रखी जा रही है।  कांग्रेस, भाजपा और बहुजन समाजवादी पार्टी ने सभी 28 स्थानों पर उम्मीदवार उतारे है। समाजवादी पार्टी के चौदह उम्मीदवार मैदान में है। वहीं अन्य राजनीतिक दलों के अलावा 179 निर्दलीय उम्मीवार भी मैदान में है।  

उपनिर्वाचन में इस बार कुल तीन हजार 38 क्रिटिकल मतदान केन्द्र एवं 358 वलरेबल  हेमलेटस, चिन्हित किए गए है। मतदान केन्द्रों पर नजर रखने, शांतिपूर्ण निष्पक्ष पारदर्शी एंव सुरक्षित मतदान के लिए ढाई सौ उड़नदस्ते, 173 एसएसटी एवं 293 पुलिस नाकों की व्यवस्था की गई है।

मतदान केन्द्रों पर इस बार मतदान के लिए कतारों में दो गज की दूरी पर गोले बनवाए गए है। सभी को मास्क लगाकर ही मतदान केन्द्रों पर प्रवेश मिलेगा। ईवीएम का बटन दबाने के लिए ग्लब्स दिए जाएंगे। मतदान केन्द्रों पर सेनेटाईजर और हाथ धोने के लिए साबुन और पानी का इंतजाम भी किया गया है। बुजुर्ग और महिला मतदाताओं को इंतजार के लिए प्रतीक्षा कक्ष भी बनाए गए है। मतदाताओं का तापमान भी नापा जाएगा। तय मापदंड से अधिक तापमान आने पर ऐसे मतदाताओं को मतदान के आखिरी घंटे में शाम पांच से छह बजे के बीच मतदान करने का मौका मिलेगा। इसके लिए उन्हें टोकन दिए जाएंगे।

 प्रदेश के 28 विधानसभा क्षेत्रों में मैदान में शेष रह गए 355 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करने तीन नवंबर को सुबह 7 बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा। कांग्रेस, भाजपा और बहुजन समाजवादी पार्टी ने सभी 28 स्थानों पर उम्मीदवार उतारे है। समाजवादी पार्टी के 14 उम्मीदवार मैदान में है। वहीं अन्य राजनीतिक दलों के अलावा 179 निर्दलीय उम्मीवार भी मैदान में है।  मतदान के लिए प्रशासन ने सभी तैयारियां पूरी कर ली है।

शिवराज सरकार में मंत्री इमरती देवी एक नवम्बर को चुनाव आयोग की बंदिश के चलते चुनाव प्रचार नहीं कर सकीं। आयोग ने उन्हें असभ्य शब्दों के इस्तेमाल को लेकर नोटिस दिया था लेकिन मंत्री ने कहा कि उन्होंने कोई असभ्य शब्दावली किसी के निजी लोगों के लिए नहीं बोली है। इसके बाद आयोग ने जवाब से असंतुष्ट होकर इमरती देवी के लिए एक दिन के प्रतिबंध का फैसला कल लिया था। इसमें आयोग ने कहा था कि मंत्री इमरती देवी 1 नवम्बर को एक दिन चुनाव प्रचार, रैली, आमसभा, इंटरव्यू, रोड शो नहीं कर सकीं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close