राजनीति

बिहार: सुबह 8 बजे से मतगणना, जानिए कहां का रिजल्ट सबसे पहले, कहां होगी देरी

पटना
बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) के लिए मंगलवार 10 नवंबर को मतगणना होगी। इसी के साथ इस बात का पता चल जाएगा कि बिहार में किसका राज होगा? तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) का या फिर से नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सत्ता में वापसी करेंगे। मंगलवार को बिहार विधानसभा की सभी 243 सीटों पर मतगणना सुबह 8 बजे शुरू होगी। परिणामों का रुझान सुबह नौ बजे से आने की संभावना है जबकि वास्तविक परिणाम 2-3 बजे से सामने आने लगेंगे। चुनाव आयोग द्वारा राज्य के सभी 38 जिलों में 55 मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। चुनाव आयोग के अधिकारियों के मुताबिक, सबसे पहले बैलेट पेपर से डाले गए मतपत्रों की गणना होगी। सुबह 8:15 बजे ईवीएम से गणना की शुरुआत हो पाएगी। अधिकारियों का कहना है कि ईवीएम से एक राउंड की गणना करने में 15 से 20 मिनट का समय लगेगा। इसलिए पहला रुझान सुबह 8:30 बजे तक आने की संभावना है। मतगणना में लगभग 600 कर्मचारी लगाए गए हैं। कोविड-19 को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। मतगणना में शामिल कर्मचारियों को कहा गया है कि 10 नवंबर की सुबह छह बजे तक मतगणना स्थल पर पहुंच जाएं ताकि समय से ईवीएम और मतपत्रों की गणना हो सके।

फतुहा व बख्तियारपुर के परिणाम पहले आ जाएंगे
पटना के 14 विधानसभा क्षेत्रों में से सबसे पहले फतुहा विधानसभा और बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र के परिणाम घोषित किए जाएंगे। इन दो विधानसभा क्षेत्रों में मतदान केंद्रों की संख्या अन्य विधानसभा क्षेत्रों की तुलना में कम है। फतुहा विधानसभा में 405 और बख्तियारपुर विधानसभा में 410 मतदान केंद्र हैं। इसलिए इन दो विधानसभा क्षेत्रों में परिणाम जल्दी आने की संभावना है। दीघा, कुम्हरार और बांकीपुर विधानसभा के परिणाम देर से आएंगे। दीघा की गिनती देर तक चलती रहेगी। पटना जिले के सभी चौदह विधानसभा क्षेत्रों के लिए एएन कॉलेज में मतगणना स्थल बनाया गया है। प्रत्येक विधानसभा की मतगणना दो पंडाल में होगी। वहीं, पटना साहिब विधानसभा क्षेत्र की मतगणना 4 जगहों पर करने की व्यवस्था की गई है।

भोजपुर जिले में मैदान में 98 उम्मीदवार
भोजपुर जिले के 7 विधानसभा क्षेत्रों के लिए वोटों की गिनती के लिए जिला प्रशासन ने तैयारी कर ली है। आरा विधानसभा के अलावा संदेश विधानसभा, तरारी विधानसभा, अगिआंव विधानसभा, जगदीशपुर विधानसभा, शाहपुर विधानसभा और बड़हरा विधानसभा के लिए वोटों की गिनती की जाएगी। भोजपुर जिले के बाजार समिति प्रांगण में मतगणना को लेकर प्रशासनिक तैयारी की गई है। कई जगह मजिस्ट्रेट के साथ पर्याप्त संख्या में फोर्स की प्रतिनियुक्ति की गई है। साथ में किसी भी व्यवस्था से निपटने के लिए केंद्रीय बलों को तैनात किया गया है। मतगणना की तैयारी को लेकर भोजपुर के जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा और एसपी हर किशोर राय ने मतगणना केंद्र का जायजा लिया। मतगणना को लेकर मतगणना केंद्र के आसपास के इलाके में धारा 144 लगा दी गई है। किसी भी तरह के प्रदर्शन जुलूस पर रोक लगाई गई है। भोजपुर जिले के 7 विधानसभा क्षेत्र के लिए वोटों की गिनती के लिए 14 टेबल लगाए गए हैं। इसके अलावा 3 टेबल बैलट वोटों की गिनती के लिए लगाए गए हैं। जिले में 7 विधानसभा क्षेत्रों में 98 उम्मीदवार मैदान में है जिनके भाग्य ईवीएम में कैद हैं। कल होने वाली मतगणना के बाद 98 में से 7 नए विधायक भोजपुर जिले के लिए चुनकर सामने आएंगे।

गोपालगंज में काउंटिंग की तैयारी पूरी, इन दिग्गजों की किस्मत का होगा फैसला
गोपालगंज में 6 विधानसभा सीटों की मतगणना को लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है। थावे के डाइट सेंटर में सदर अनुमंडल के चार विधानसभा सीट का काउंटिंग सेंटर बनाया गया है। थावे के ही नवनिर्मित आईटीआई सेंटर में हथुआ अनुमंडल के दो विधानसभा सीट की गिनती होगी। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए दो हॉल बनाए गए हैं। प्रत्येक हॉल में सात टेबल लगे होंगे। काउंटिंग सेंटर में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। जगह-जगह एलईडी भी लगे हैं। वज्र गृह की सुरक्षा सीआईएसएफ के हवाले है। गोपालगंज से लालू यादव के साले साधु यादव बीएसपी से, कांग्रेस से पूर्व सीएम अब्दुल गफूर के पोते आसिफ गफूर और बीजेपी विधायक सुभाष सिंह और बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष मिथिलेश तिवारी के साथ जेडीयू के बागी और पूर्व प्रदेश महासचिव निर्दलीय प्रत्याशी मंजीत सिंह और आरजेडी के प्रेम शंकर पांडेय का सीधा मुकाबला है। कुचायकोट से दो बाहुबलियों की आमने-सामने टक्कर है। यहां जेडीयू के दबंग विधायक अमरेन्द्र पांडेय उर्फ पप्पू पाण्डेय और कांग्रेस के उम्मीदवार बाहुबली काली प्रसाद पांडेय में मुकाबला है।

एग्जिट पोल में तेजस्वी वाले महागठबंधन को बढ़त
बिहार चुनाव के तीसरे और आखिरी चरण के लिए मतदान समाप्त होने के बाद समाचार चैनलों और एक्जिट पोल एजेंसियों ने अपने एक्जिट पोल के नतीजों की घोषणा की है। एग्जिट पोल ने बिहार में बहुत करीबी मुकाबले की भविष्यवाणी की है, जिसमें महागठबंधन को एनडीए से आगे रखा गया है। साथ ही तेजस्वी यादव की लोकप्रियता मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ज्यादा बताई गई है। कई एक्जिट पोल में एनडीए और महागठबंधन के बीच कांटे की टक्कर बताई जा रही है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button