राजनीति

बिहार सरकार ने धरती, आकाश और पाताल सबको दूषित कर दिया: सुरजेवाला

पटना                                                                                                                                                                                    
कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि बिहार के सभी शहर कूडे़ के ढेर बन गये हैं। हवा प्रदूषित है और पानी पीने लायक नहीं। आश्चर्य है कि महावीर कैंसर संस्थान ने यूके के यूनिवर्सिटी ऑफ मैनस्टर की मदद से जांच कराई तो पता चला कि पटना सहित 11 शहरों के पानी में कैंसर जैसी भयानक बीमारी पैदा करने वाली यूरेनियम बहुत अधिक मात्रा में है। बिहार की जनता की सेहत से खिलवाड़ कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी नायक का मुखैटो पहने घूम रहे हैं। राजधानी पटना भी देश के सबसे गंदे शहरों की सूची में है। यहां की हृदयस्थली जीपीओ के पास ही कूड़े का ढेर लगा हुआ है। 

रणदीप सिंह सुरजेवाला पुराने निगम कार्यालय परिसर में लगे कूड़े के ढेर पर ही रविवार को प्रेस वार्ता कर रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि जुमलेबाज और धोखेबाज की जोड़ी ने बिहार के लोगों का जीवन नर्क बना दिया है। केन्द्र सरकार की इस साल की स्वच्छता सर्वे रिपेार्ट के अनुसार दस लाख की आबादी वाले देश के 47 शहरों में पटना सबसे गंदा है। एक से दस लाख तक की आबादी वाले देश के 382 शहरों में बिहार के शहरों का नाम 74वें पायदान से शुरू होता है। पवित्र नगरी गया सबसे अंतिम यानी 382वें स्थान पर है। भागलपुर 379वें और बिहारशरीफ 374वें स्थान पर है।  

इससे पहले रविवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि भाजपा ने भ्रमजाल फैलाने के लिए जदयू, लोजपा और औबैसी की पार्टी से अलग-अलग समझौता किया। बावजूद हार दिखने लगी तो हर बार की तरह एक बार फिर पाकिस्तान की शरण में चली गई। उन्होंने कहा है कि 73 सालों में नरेन्द्र मोदी अकेले पीएम हैं जो उग्रवादी हमले के बावजूद उधमपुर और गुरुदासपुर बिन बुलाये मेहमान बनकर 25 दिसम्बर 2015 को केक काटने और दावत उड़ाने पाकिस्तान चले गये। वह पहले पीएम हैं जो वायुसेना के पठानकोट एयरबेस पर उग्रवादी हमले की जांच के लिए पाकिस्तान की आईएसआई को बुलाया। आईएसआई भारत पर ही आरोप लगाकर लौट गई।

सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि पुलवामा हमले के मुख्य आरोपित मौलाना मसूद अजहर को जेल से रिहाकर अफगानिस्तान व पाकिस्तान तक छोड़ आये। पीएम के नाक के नीचे दाउद इब्राहिम की पत्नी 2016 में मुम्बई आई और लौट गई। केन्द्र की सरकार ने गिरफ्तार करना तो दूर एक शब्द बोल नहीं पाई। मध्य प्रदेश के आईटी सेल के अधिकारी ध्रुव सक्सेना आईएसआई के लिए जासूसी करता पकड़ा गया। उन्होंने कहा है कि ऐसे में भाजपा को जवाब देना चाहिए कि बिहार में हुए घोटालों की जांच क्यों नहीं कराई। विशेष राज्य का दर्जा क्यों नहीं दिया? सवा लाख करोड़ के पैकेज में से 1559 करोड़ के काम ही क्यों हुए? रोजगार, किसान, शिक्षा, स्वास्थ्य और उद्योग की बदहाली का जवाब कब देंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button