छत्तीसगढ़राज्य

बलात्कार के फरार 2 हैदराबाद व 1 बिहार से गिरफ्तार

सुकमा
बलात्कार के मामले में फरार चल रहे आरोपियों को सुकमा पुलिस आखिरकार गिफ्तार कर लिया। एक आरोपी को 7 साल बाद बिहार से गिरफ्तार किया गया जो पागल बनकर पुलिस को चकमा दे रहा था। वहीं दो आरोपियों को हैदराबाद से गिरफ्तार किया गया। सुकमा पुलिस ने इस मामलें में बिहार, तेलंगाना, झारखंड, आंध्रप्रदेश, ओड़िशा व हैदराबाद में दबिश दिया था।

सुकमा जिले के केरलापाल, छिंदगढ़ और गादीरास में दुष्कर्म के अलग-अलग मामले में फरार चल रहे आरोपियो को पकड?े के लिए सुकमा पुलिस ने मुत्ते रक्षतुंग (अस्मिता सम्मान) अभियान के तहत इनकी खोजबीन के लिए अलग-अलग टीम का गठन किया गया। इन टीमों ने साइबर सेल और कॉल ट्रेसिंग की मदद से तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल कर ली।

केरलापाल क्षेत्र में साल 2013 में एक आरोपी अमजद खान बलात्कार करने के बाद फरार हो गया था। 7 साल से पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। पुलिस जब भी परिवार से पूछताछ करती तो वह अमजद को पागल बताते और जानकारी नहीं होने की बात कहकर गुमराह कर रहे थे। सायबर टीम को उसकी लोकेशन बिहार में मिली और एक टीम को वहां भेजा गया। टीम ने हमजापुर शेरघाटी से आरोपी अजमद खान को गिरफ्तार लिया, लेकिन गिरफ्तारी से पहले वह पुलिस को वहां भी गुमराह करने में कोई कसर नहीं छोड़ा था।

वहीं छिंदगढ़ क्षेत्र में इसी साल हुए दुष्कर्म के मामले में गढ़वा झारखंड निवासी धनंजय खरवार और गादीरास से अपहरण व दुष्कर्म के आरोपी राकेश वेट्टी फरार हो गया था। दोनों को पकड?े के लिए सायबर सेल की टीम ने मदद की। पहले दोनों का लोकेशन आंध्रप्रदेश और तेलंगाना में मिला था जहां एक-एक टीम को वहां भेजा गया लेकिन वे पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो और अपना लोकेशन बदलने में सफल हो गए। सायबर सेल को ओड़िशा में होने का लोकेशन मिला जहां पर भी टीम भेजी गई वहां पर भी वह नहीं मिला। इसके बाद सायबर सेल ने अन्य जगहों से जानकारी जुटाई और अलग-अलग टीम को उनके पीछे लगवाया। आखिरकार हैदराबाद से दोनों को गिरफ्तार करने में सुकमा पुलिस ने सफलता हासिल कर ली। आज तीनों आरोपियों को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button