मध्य प्रदेशराज्य

बमोरी में आयोजित सह-अंत्योदय मेले में गुना को मिली 558 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात

 

गुना। दिग्विजय सिंह और कमलनाथ ने मिलकर प्रदेश की जनता को केवल लूटने का काम किया। कमलनाथ केवल दिखावे के मुख्यमंत्री से। असली डोर तो कठपुतली बनाकर दिग्विजय सिंह खींच रहे थे। दिग्विजय और कमलनाथ का ज्यादा नाम लूंगा तो मुझे नहाना पड़ेगा। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बमोरी में आयोजित सह-अंत्योदय मेले में आमजन को संबोधित करते हुए कही। कार्यक्रम में राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद रहे। सभा को संबोधित करते हुए सीएम चौहान ने कमलनाथ सरकार पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने गरीबों के विकास के लिए बनी हुई योजनाओं को बंद किया। बच्चों को प्रोत्साहन स्वरूप मिलने वाले लैपटॉप योजना को उन्होंने बंद किया। सहरिया महिलाओं को प्रतिमाह सब्जी-भाजी के लिए मिलने वाले एक हजार रुपये तक कमलनाथ कहा गए। बुजुर्गों के लिए तीर्थ दर्शन योजना को बंद कर दिया। कमलनाथ हमेशा पैसे के लिए रोते रहे। उन्होंने हमेशा पैसा न होने का बहाना बनाया। किसी मुख्यमंत्री को पैसे के लिए नहीं रोना चाहिए। कमलनाथ द्वारा किये गए इन्ही पापों का नतीजा है कि उनकी सरकार चली गयी।

कांग्रेस सरकार में दर-दर की ठोकरें खाते थे मंत्री

सभा को संबोधित करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी कांग्रेस की सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि मेरा बमोरी की जनता के साथ खून, माटी और दिल का रिश्ता है। हमारी सोच विकास और प्रगति की विचारधारा की रही है। हमारा संबंध विकास और प्रगति का है। 15 सालों के शिवराज सरकार विकास से बड़ी लकीर हम कांग्रेस सरकार में खींचना चाहते थे। कांग्रेस सरकार ने इसमें रोड़ा अटकाया। कांग्रेस की सरकार में विधायक-मंत्री दर-दर की ठोकरें खाते थे। लेकिन उनके क्षेत्र में कोई विकास कार्यों की मंजूरी नहीं मिलती थी। अन्नदाताओं के साथ कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने गद्दारी की है। बच्चियों की शादी के पैसे तक कमलनाथ ने नहीं दिए। असली गद्दार वो है जो जनता के साथ गद्दारी करता है। सिंधिया परिवार ने हमेशा ही जनता के लिए काम किया है। और जो सरकार जनता के हित में काम नहीं कर सकती, सिंधिया परिवार का मुखिया कभी उस सरकार में नहीं रहेगा। कांग्रेस ने 15 महीनों की सरकार में बमोरी के लिए कुछ भी नहीं किया। बस वल्लभ भवन में बैठकर सरकार चलाते रहे। एक बार भी जनता के बीच में नहीं आये। कार्यक्रम की शुरूआत में 558 करोड़ के विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया गया। इसके अलावा पूर्व विधायक स्व. देवेंद्र सिंह के पुत्र शैलेन्द्र रघुवंशी, पुत्री अंशु रघुवंशी, रक्षित सिंह गढ़ा, रुद्र प्रताप सिंह मधुसूदनगढ़ ने कांग्रेस छोड़ भाजपा की सदस्यता ली। सीएम शिवराज सिंह और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने माला पहनाकर उनका भाजपा में स्वागत किया।

कार्यक्रमस्थल  पर लगभग 50000 की बड़ी भीड़ उपस्थित थी, जबकि लगभग 20 हजार लोग सभा स्थल पर पहुंचने की जद्दोजहद में लगे रहे व जाम में फंसे रहने के कारण सभा स्थल पर नहीं पहुंच पाए।विशेषता ये रही कि इतनी बड़ी संख्या में उपस्थित जनसैलाब बमौरी विधानसभा क्षेत्र का ही था।समूचा बामोरी आज भाजपामयी हो गया था।

मंच पर जिलाध्यक्ष गजेन्द्र सिंह सिकरवार,गुना विधायक गोपीलाल जाटव, पूर्व विधायक ममता मीना,बिट्ठल दास मीना,नपा अध्यक्ष राजेंद्र सलूजा, बृजमोहन किरार, हरि सिंह यादव, भूपेंद्र सिंह रघुवंशी,ओ एन शर्मा,पन्ना लाल शाक्य,श्रवण धाकड़, देवेंद्र किरार, वीर बहादुर यादव, महेंद्र सिंह किरार,अरविंद गुप्ता, हेमराज किरार,रमेश मालवीय,मनु सिंह पाड़ोन,मोहन वारेला, हरि राम रघुवंशी, हरि सिंह यादव, सुशील दहिफले आदि उपस्थित थे।
 

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close