राजनीति

बंगाल में हम 200 से ज्यादा सीटों के साथ बीजेपी की सरकार बनाएंगे -अमित शाह

   कोलकाता
  
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पश्चिम बंगाल के दौरे पर हैं. आज उनके दौरे का दूसरा दिन है. अमित शाह राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साध रहे हैं. उन्होंने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि ममता बनर्जी के हाथों में बंगाल की कमान दी गई थी. मगर आज मां, माटी और मानुष का नारा तुष्टिकरण, तानाशाही और टोलबाजी में परिवर्तित हो गया. अमित शाह ने इसके साथ ही बंगाल में 200 से ज्यादा सीटें जीतने का भी दावा किया.

उन्होंने कहा कि मैं निश्चित रूप से कहता हूं कि आने चुनाव में बंगाल में हम 200 से ज्यादा सीटों के साथ बीजेपी की सरकार बनाने जा रहे हैं. अमित शाह ने कहा कि आज मेरा बंगाल का दो दिवसीय दौरा समाप्त हो रहा है. इस दौरे के दौरान बीजेपी के 4 विभागों के कार्यकर्ता और समाज के अन्य कार्यकर्ताओं से मिलना हुआ. करीब 180 से ज्यादा संस्थाओं के प्रतिनिधियों से भी संवाद हुआ. गृह मंत्री ने कहा कि 2010 में बड़े चाव के साथ 11 अप्रैल को मां, माटी और मानुष  के नारे के साथ बंगाल में परिवर्तन हुआ था. बंगाल की जनता के मन मे ढेर सारी अपेक्षाएं और आशाएं थी.

बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी के हाथों में बंगाल की कमान दी गई थी. मगर आज मां, माटी और मानुष का नारा तुष्टिकरण, तानाशाही और टोलबाजी में परिवर्तित हो गया है. तृणमूल सरकार जनता की अपेक्षाओं को पूरा नहीं कर सकी है.

गृह मंत्री ने कहा कि बंगाल की जनता में एक अजीब प्रकार का वातावरण दिख रहा है. मैं जहां भी गया तो सैकड़ों लोग सकड़ों पर आए थे. जब वो भारत माता की जय, वंदे मातरम, जय श्रीराम के नारे लगाते थे, वो हमारे स्वागत में कम, ममता सरकार के प्रति गुस्से को ज्यादा दिखाते थे.

अमित शाह ने कहा कि मैं बंगाल की जनता को आश्वस्त करने आया हूं कि आपने कांग्रेस को भी 1 मौका दिया, कम्युनिस्टों को भी बार-बार मौके दिए और 2 मौके ममता को दिए. एक मौका नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी को दे दीजिए, हम 5 वर्ष के भीतर सोनार बांग्ला बनाने का वादा करते हैं.

'बंगाल में चलते हैं तीन कानून'

अमित शाह ने कहा कि हमारा लक्ष्य स्पष्ट है कि बंगाल का विकास हो, देश की सीमाएं सुरक्षित हों, बंगाल के अंदर घुसपैठ रुके. टीएमसी और ममता बनर्जी का एकमात्र लक्ष्य है कि अगले टर्म में भतीजे को मुख्यमंत्री बना देना है. अब बंगाल की जनता को तय करना है कि परिवारवाद चाहिए या विकासवाद चाहिए.  

गृह मंत्री टीएमसी पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि साइक्लोन और कोरोना महामारी में भी भ्रष्टाचार करने से तृणमूल कांग्रेस पीछे नहीं हटी है. तुष्टिकरण से बंगाल की जनता के बहुत बड़े वर्ग के मन में सवाल खड़े हुए हैं. एक प्रकार से बंगाल में 3 कानून हैं. एक अपने भतीजे के लिए, एक अपने वोट बैंक के लिए और एक आम लोगों के लिए.

गृह मंत्री ने कहा कि जेपी नड्डा के नेतृत्व में बीजेपी बंगाल के चुनाव को बहुत गंभीरता से ले रही है. क्योंकि इसके साथ देश की सुरक्षा भी जुड़ी है और अति पिछड़े गरीब लोगों के भले का भी सवाल है. दोनों मुद्दों को लेकर हम जनता के बीच जाएंगे.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button