मध्य प्रदेशराज्य

फाइलेरिया दिवस सामूहिक दवा सेवन में कार्यकर्ता कोविड-19 सम्बन्धी सावधानियां रखेंगे

 भोपाल

आगामी माह में आयोजित होने वाले  फाइलेरिया मास ड्रग एडमिनि्ट्रेशन चक्र में दवा सेवक कार्यकर्ता  कोविड-19 संबंधित आवश्यक सावधानियां को रखते हुए कार्य करेंगे।  यह  निर्देश अपर मुख्य सचिव  लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण  मोहम्मद सुलेमान ने राज्य टेक्नीकल एडवायजरी कमेटी, (लिम्फेटिक फाइलेरियासिस) की बैठक में दिए।

 प्रदेश में आगामी माह में आयोजित होने वाले फाइलेरिया दिवस- सामूहिक दवा सेवन गतिविधि (मॉस ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन)  के  संबंध में बैठक में  वर्तमान स्थिति और  कार्ययोजना पर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में बताया गया कि जिलों में चिन्हित विशेष फाइलेरिया प्रभावित ग्राम/वार्ड के सरपंच/पार्षद तथा अन्य विशिष्ट सक्रिय सदस्यों को भी मॉस ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के लिए प्रशिक्षण देकर सक्रिय सहयोग प्राप्त किया जायेगा।

इस वर्ष एम.डी.ए. चक्र में दवा सेवक कार्यकर्ताओं द्वारा  घर-घर जाकर गोलियों की प्रदायगी तथा समक्ष में सेवन कराने के संबंध में विशेष रणनीति अपनाई जा रही है । इस तकनीक को राईस बाउल तकनीक के रूप में अपनाया जायेगा। इस तकनीक में दवा सेवक कार्यकर्ता  घर-घर भ्रमण कर कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के दृष्टिगत नॉन-टच तकनीक द्वारा दवा उपलब्ध कराकर दवा सेवन करवाएगा। दवा सेवक द्वारा घर-घर भ्रमण के दौरान हितग्राहियों के घरों से छोटा पात्र/कटोरी मंगवाकर परस्पर दूरी रखते हुये उसमें गोलियां रखी जायेगी जिसे दवा सेवक के समक्ष सेवन करवाएगा । इस तकनीक से दवा सेवक  हितग्राहियों से संपर्क कम से कम रखकर कोविड-19 के संक्रमण से बचा जा सकता है।इसके अतिरिक्त दवा सेवक द्वारा कोविड-19 के दृष्टिगत निर्धारित प्रोटोकॉल जैसे मॉस्क, हेंड ग्लव्स एवं सेनेटाईजर का उपयोग अनिवार्य रूप किया जायेगा। इस सम्बन्ध में जिला/विकासखण्ड स्तर पर आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा एवं आवश्यकतानुसार आवश्यक सामग्री एवं दवाईयों की व्यवस्था की जायेगी।

 बैठक में बताया गया कि इस  वर्ष मॉस ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन को और अधिक प्रभावी बनाने के उद्देश्य से लिम्फेटिक फाइलेरियासिस बीमारी, दवा सेवन गतिविधि तथा जिले में निर्धारित तिथियों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जायेगा।  परंपरागत तकनीक जैसे बैनर, पोस्टर दीवार लेखन के अतिरिक्त सोशल मीडिया मैसेजेस का निर्माण कर विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रसार किया जायेगा। इससे आमजन को जागरूक करने के साथ-साथ दवा सेवन गतिविधि को और अधिक प्रभावी बनाने में सहायता होगी।

बैठक में राज्य टेक्नीकल एडवायजरी कमेटी के सदस्य   आयुक्त स्वास्थ्य डॉ. संजय गोयल,  संचालक चिकित्सा शिक्षा, डॉ. उल्का श्रीवास्तव, संचालक स्वास्थ्य सेवायें   डॉ. सतीश कुमार एस, अनुज घोष, संचालक, ग्लोबल हेल्थ स्टे्रटीज संस्थान, डॉ. मोहम्मद आसिफ, चिकित्सा अधिकारी, वरिष्ठ क्षेत्रीय संचालक कार्यालय भारत सरकार तथा अन्य विभागीय अधिकारी शामिल हुए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button