अंतरराष्ट्रीय

पूर्व राष्ट्रपति किसको तलब करना चाहते हैं , अमेरिकी चुनाव में हार का ठीकरा ट्रंप ने किसके सिर फोड़ा?

वाशिंगटन
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को कहा कि मुख्यधारा मीडिया उनके चुनावों में गलत थी और उन्हें चुनावी हस्तक्षेप के लिए बुलाया जाना चाहिए। ट्वीट्स की एक सीरीज में, ट्रम्प ने कहा कि फॉक्स न्यूज, क्विनिपियाक पोल, एबीसी / वाशिंगटन पोस्ट, एनबीसी / वॉल स्ट्रीट जर्नल के पोल्स इतने गलत थे कि इससे वास्तव में चुनाव पर प्रभाव पड़ा। ट्रंप ने कहा "वे अपने पोल्स में दबाव बनाने की कोशिश कर रहे थे उन्हें चुनाव हस्तक्षेप के लिए तलब किया जाना चाहिए।"

उन्होंने कहा ''एबीसी / वेपो ने मुझे विस्कॉन्सिन में चुनाव से एक दिन पहले 17 अंक दिए थे, और मैं जीत गया! आयोवा में, चुनावों में हमारे चार अंक नीचे थे, और मैं 8.2 प्रतिशत से जीता! फॉक्स न्यूज और क्विनिपियाक हर चीज पर गलत थे।'' उन्होंने कहा कि “अब तक का सबसे खराब मतदान, और फिर ये सब करने के लिए ये  लोग (मीडिया) चार साल में वापस आ जाएंगे। यह मतदाता और अभियान वित्त दमन से बहुत अधिक है।''

वहीं, ट्रंप राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों को चुनौती देने के लिए कईं प्रमुख राज्यों में वोटों की दोबारा गिनती को लेकर रैलियां निकालने की योजना बना रहे हैं। अमेरिकी न्यूज पोर्टल एक्सिस ने राष्ट्रपति के सलाहकारों के हवाले से बताया कि ट्रंप राष्ट्रपति चुनाव में जो बिडेन की अनुमानित जीत के मद्देनजर रैलियां निकालने की तैयारी में हैं।

इधर, ट्रंप को चुनाव में मिली हार की गाज रक्षा मंत्री मार्क एस्पर पर गिरी है। ट्रंप ने उन्हें पद से हटा दिया है। ट्रंप ने एक ट्वीट में कहा कि राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधी केंद्र के निदेशक क्रिस्टोफर मिलर को तत्काल प्रभाव से अंतरिम रक्षा मंत्री बनाया जाता है। गौरतलब है कि ट्रंप और एस्पर के संबंधों में काफी समय से खटास है।

चुनाव में हार के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर जनवरी में नए प्रशासन के कार्यकाल सम्भालने पर सत्ता का सहज हस्तांतरण सुनिश्चित करने के लिए देश के निर्वाचित राष्ट्रपति जो मबाइडेन की टीम के साथ सहयोग करने का दबाव बढ़ रहा है। जनरल सर्विसेज एडमिनिस्ट्रेटन (जीएसए) पर बाइडेन को निर्वाचित राष्ट्रपति के रूप से औपचारिक रूप से मान्यता देने की जिम्मेदारी है। इसके बाद सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया आरंभ होगी। एजेंसी की प्रशासक एमिली मर्फी ने अभी तक यह प्रक्रिया आरंभ नहीं की है और न ही यह बताया है कि वह कब ऐसा करेंगी। एमिली की नियुक्ति ट्रंप ने की थी। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button