उत्तर प्रदेशराज्य

पूर्व बीडीसी सदस्य की हत्या के आरोप में दरोगा अरेस्ट

कानपुर
उत्तर प्रदेश में शनिवार को घाटमपुर क्षेत्र के भदरस गांव में एक पूर्व बीडीसी सदस्‍य की हत्‍या के आरोप में पुलिस उपनिरीक्षक प्रेमवीर सिंह यादव समेत दो अन्‍य आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पूर्व बीडीसी सदस्‍य की कथित तौर पर खाकी पहने कुछ लोगों और उनके साथियों की ओर से गोली मारकर हत्‍या कर दी गई थी। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) बृजेश श्रीवास्‍तव ने शनिवार को बताया कि मरने वाले की पहचान घाटमपुर के भदरस निवासी पप्‍पू बाजपेयी (45) के रूप में हुई है। पप्‍पू शुक्रवार की शाम को ताश खेल रहा था, जिसे एक स्‍थानीय ग्रामीण दुर्गा सिंह किसी काम के लिए लेकर गया और बाद में वह एक खेत में मृत पाया गया। कानपुर के जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने शनिवार को पूर्व बीडीसी सदस्‍य पप्‍पू बाजपेयी की हत्‍या में पुलिस उपनिरीक्षक प्रेमवीर सिंह यादव की गिरफ्तारी की पुष्टि की। पप्‍पू की शुक्रवार की रात उस समय गोली मारकर हत्‍या कर दी गई थी जब वह अपने कुछ दोस्‍तों के साथ ताश खेल रहे थे।

भेजा जाएगा फरेंसिक प्रयोगशाला
जिलाधिकारी ने बताया कि घटना स्‍थल से 0.38 बोर के कारतूस की बरामदगी ने बीडीसी सदस्‍य की हत्या में उपनिरीक्षक के शामिल होने का संकेत दिया। उन्‍होंने बताया कि उपनिरीक्षक की 0.38 बोर की सर्विस रिवॉल्‍वर भी जब्त की गई है। जिलाधिकारी ने बताया कि उप निरीक्षक की रिवॉल्‍वर का हत्‍या में प्रयोग हुआ या नहीं, इसे बैलेस्टिक जांच के लिए फरेंसिक प्रयोगशाला में भेजा जाएगा।

चार टीमें कर रही हैं खोजबीन
श्रीवास्‍तव ने बताया कि उपनिरीक्षक के साथ मौजूद सिपाही दीपांशु ने उच्च अधिकारियों को इस घटना से अवगत नहीं कराया, जिसके चलते उसे लाइन हाजिर किया गया है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सिपाही के खिलाफ एक विभागीय जांच भी शुरू की गई है और उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। उन्‍होंने बताया कि इस मामले में वीरेंद्र और बक्‍का नाम के दो आरोपियों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दुर्गा सिंह और सोनू सिंह समेत अन्‍य अभियुक्‍तों को पकड़ने के लिए पुलिस की चार टीमों को लगाया गया है।

एसपी ग्रामीण को जांच का आदेश
उल्‍लेखनीय है कि यह चर्चा होने पर कि इस घटना में पुलिसकर्मियों की भूमिका है, कानपुर के पुलिस उप महानिरीक्षक डॉक्‍टर प्रीतिंदर सिंह ने सच्‍चाई की छानबीन के लिए एसपी ग्रामीण को जांच का आदेश दिया था। पुलिस के अनुसार पीड़ित परिवार ने चार स्थानीय ग्रामीणों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। जिन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया उनमें दुर्गा सिंह, सोनू सिंह, वीरेंद्र और बड़का घाटमपुर क्षेत्र के भदरस निवासी हैं।

पूर्व BDC सदस्य को मारी गोली
स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिसकर्मी जुआ खेल रहे जुआरियों का पैसा लूटने गए थे और उसी दौरान भाग रहे पूर्व बीडीसी सदस्‍य को गोली मार दी। इसके बाद बड़ी संख्‍या में पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए लोग घाटमपुर कोतवाली पहुंच गए।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button