राजनीति

पीएम मोदी ने 12 तो बीजेपी नेताओं ने की 965 चुनावी जनसभा, जनसंवाद व रोड शो

पटना
बिहार चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 12 चुनावी जनसभाएं की। उनकी पहली सभा 23 अक्टूबर को सासाराम में थी तो अंतिम सभा तीन नवम्बर को फारबिसगंज में हुई। सबसे अधिक एक दिन में चार रैली उन्होंने एक नवम्बर को की। प्रधानमंत्री की कुल 12 चुनावी जनसभा की शुरुआत 23 अक्टूबर को हुई। पहले दिन उन्होंने सासाराम, गया व भागलपुर में रैली को संबोधित किया। दूसरे दिन 28 अक्टूबर को दरभंगा, मुजफ्फरपुर एवं पटना में पीएम की रैली हुई। जबकि एक नवंबर को छपरा, पूर्वी चंपारण एवं समस्तीपुर व पश्चिम चंपारण में रैली हुई। अंतिम दिन 3 नवंबर को पीएम ने सहरसा और फारबिसगंज में चुनावी जनसभा को संबोधित किया। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने 22 चुनावी रैली व रोड शो किया। अध्यक्ष ने सबसे अधिक दूसरे चरण में चुनाव प्रचार किए। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 24 तो यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 19 चुनावी जनसभा की। वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और धर्मेन्द्र प्रधान ने 11-11 चुनावी जनसभाएं की। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय 200 चुनावी कार्यक्रम में शामिल हुए। रैली व रोड शो के बाद उन्होंने सबसे अधिक जनसंवाद किया। दूसरे स्थान पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सांसद डॉ. संजय जायसवाल रहे। उन्होंने 143 चुनावी जनसभा, नुक्कड़ सभा व रोड शो किया। बिहार भाजपा प्रभारी सांसद भूपेन्द्र यादव ने 47 चुनावी जनसभा को संबोधित किया। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने 57 चुनावी जनसभा व रोड शो किया। कोरोना की जद में आने के कारण उपमुख्यमंत्री पांच दिन तक प्रचार नहीं कर सके थे।

आठ हेलीकॉप्टर से भाजपा नेताओं ने किए प्रचार
इस चुनाव में भाजपा नेताओं ने आठ हेलीकॉप्टर से 648 चुनावी जनसभाएं तो सड़क मार्ग से 317 चुनावी जनसभा, रोड शो व जनसंवाद किए।

जीतन राम मांझी ने 24 जन सभाएं की
पूर्व मुख्यमंत्री व हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने विधानसभा चुनाव के दौरान 24 जनसभाएं विभिन्न क्षेत्रों में की। इनमें उनकी अधिकांश जनसभाएं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ थी। मांझी स्वयं भी चुनाव लड़ रहे थे, इसलिए वे अधिकांश समय अपने विधानसभा क्षेत्र इमामगंज में ही भ्रमण किये।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close