मध्य प्रदेशराज्य

नीतियाँ ऐसी हो जिससे किसान सीधे लाभांवित हो : मंत्री पटेल

भोपाल

किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने इस प्रकार की नीतियां बनाने को कहा है, जिससे किसान सीधे लाभान्वित हो। उन्होंने खेती के साथ-साथ किसानों को स्मार्ट बनाने के लिये किसान स्मार्ट कार्ड देने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। मंत्री पटेल गुरूवार को मंडी बोर्ड में विभागीय समीक्षा कर रहे थे।

मंत्री पटेल ने कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए जरूरी है कि नीतियों और योजनाओं से किसानों को लाभन्वित किया जाये। नीतियाँ व्यवहारिक हो। नियमों को सरल किया जाये जिससे उनका पालन असानी से किया जाकर लाभ उठाया जा सकें। किसान अन्नदाता है। उनकी चिंता करना हमारा धर्म है। जितना किसानों को लाभ होगा, वे सशक्त होगे उतने ही हम सशक्त होगे और उतनी ही तेजी से आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश का निर्माण होगा। मंत्री पटेल ने मंडियों की समीक्षा करते हुए कहा कि बेहतर तरीके से चल रही मंडियों में अधोसंरचनात्मक विकास कार्य किये जाए।

किसान स्मार्ट कार्ड बनेंगे

मंत्री पटेल ने निर्देशित किया कि मंडियों को स्मार्ट मंडी के रूप में विकसित करने के लिए सभी आवश्यक कार्य किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि मंडियों में ही खाद, बीज, दवाई के साथ खेती से संबंधित आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था की जानी है। किसानों को आवश्यक घरेलू सामग्री किफायती दामों पर उपलब्ध कराने के लिये आर्मी केन्टीन की तरह मंडियों में बेहतर केन्टीन की व्यवस्था उपलब्ध कराना है। मंत्री पटेल ने खरीदी के लिये किसानों को स्मार्ट कार्ड बनाकर देने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि किसान मंडी में अपनी फसल विक्रय करने के बाद खाते में आने वाली राशि का उपयोग स्मार्ट कार्ड से खरीदी में कर सकेंगे।

चाय-नाश्ते और भोजन की रहें बेहतर व्यवस्थाएँ

मंत्री पटेल ने निर्देशित किया कि मंडियों में किसानों को चाय-नाश्ते और भोजन की बेहतर व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिये बढ़िया केंटीन संचालित किये जायें। आवश्यकतानुसार इसमें एनजीओ की भागीदारी सुनिश्चित की जाये। सरकार द्वारा बनाये जा रहे एफपीओ को भी इसमें शामिल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अन्नदाता किसान का अधिकार है कि उसको बेहतर सुविधाएँ मिले। पटेल ने इसके लिये कार्ययोजना बनाकर पायलट प्रोजेक्ट के रूप में चिन्हित स्थानों पर प्रारंभ करने की तैयारी करने के निर्देश दिये।

किसान क्लीनिक खोले जायेंगे

पटेल ने निर्देशित किया कि प्रदेश की प्रथम श्रेणी की 13 मंडियों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में किसान क्लीनिक खोले जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि किसान अपने परिश्रम में इतने व्यस्त रहते हैं कि समय पर स्वास्थ्य परिक्षण नहीं करा पाते है। मंडीयों में आने वाले किसानों का स्वास्थ्य परीक्षण किसान क्लीनिक में किया जाकर उनको प्राथमिक उपचार भी उपलब्ध कराया जा सकेंगा। प्रबंध संचालक मंडी बोर्ड सुप्रियंका दास और संचालक कृषि श्रीमती प्रीति मैथिल नायक सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button