अंतरराष्ट्रीय

निकिता हत्याकांड: गुस्साए परिजनों और प्रदर्शनकारियों ने बल्लभगढ़ में दिल्ली-मथुरा नैशनल हाइवे किया जाम

 

फरीदाबाद
बल्लभगढ़ में निकिता हत्याकांड का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। गुस्साए परिजनों और प्रदर्शनकारियों ने मंगलवार दोपहर बल्लभगढ़ में दिल्ली-मथुरा नैशनल हाइवे को जाम कर दिया। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे लोग हरियाणा पुलिस मुर्दाबाद, यूपी पुलिस जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि आरोपी जबरन लड़की का धर्म परिवर्तन कराना चाहता था और नाकाम रहने पर उसने हत्या कर दी। मामले में पुलिस ने दोनों आरोपी तौसीफ और रेहान को गिरफ्तार कर लिया है। रेहान को पुलिस ने हरियाणा के नूंह से गिरफ्तार किया है।

जानकारी के मुताबिक, बल्लभगढ़ में कॉलेज से निकल रही छात्रा की सोमवार को सरेआम हत्या कर दी गई थी। छात्रा की हत्या से गुस्साए परिजन मंगलवार को धरने पर बैठ गए हैं और कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। छात्रा के परिजनों और रिश्तेदारों ने मंगलवार को दोपहर बल्लभगढ़ में दिल्ली-मथुरा नैशनल हाइवे पर जाम भी लगा दिया। उनका आरोप है कि आरोपी युवक छात्रा निकिता पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डाल रहा था।

उधर, पूरे मामले को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को कहा कि बल्लभगढ़ की घटना में दोषियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मामले में किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

छात्रा के एक रिश्तेदार हाकिम सिंह ने बताया, 'वह लड़की पर बार-बार मुस्लिम बनने के लिए दबाव डाल रहा था। तीन साल पहले भी उसने वारदात की थी लेकिन तब हमने पंच फैसले से मामला निपटा लिया था। अब लड़के ने फिर लड़की को फोन किया कि मुसलमान बन जा हम शादी कर लेंगे। लड़की ने इनकार कर दिया तो अपहरण की कोशिश की गई। अपहरण में नाकाम रहने पर गोली मारकर हत्या कर दी। प्रशासन से हमारी मांग है कि एसआईटी गठित कर मामले की जांच कराई जाए और फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामले की सुनवाई कराई जाए।'

बल्लभगढ़ सिटी थाना एरिया के मिल्क प्लांट रोड स्थित अग्रवाल कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा निकिता का सोमवार को कार सवार दो युवकों ने अपहरण करने का प्रयास किया था। प्रयास विफल होने पर आरोपियों ने छात्रा की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपी कार में सवार होकर फरार हो गए। परिवार ने तौसीफ नाम के एक युवक पर हत्या का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी।

परिजनों के मुताबिक, आरोपी ने 2 अगस्त 2018 को भी उनकी बेटी का अपहरण किया था। इस मामले में उन्होंने मामला भी दर्ज कराया था। मगर लोकलाज के चलते उन्होंने इस मामले में समझौता कर लिया था। परिवार का आरोप है कि अब युवक ने उनकी बेटी की जान ले ली। आरोपी मेवात के रोजका मेव गांव का रहने वाला है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button