अंतरराष्ट्रीय

नवाज शरीफ का दावा, करगिल युद्ध के दौरान सैनिकों के पास नहीं थे हथियार

क्वेटा 
पाकिस्तान के 11 विपक्षी दलों ने रविवार को क्वेटा में सरकार के खिलाफ तीसरी बड़ी रैली आयोजित की। इस रैली में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने करगिल युद्ध को लेकर कई अहम दावे किए। शरीफ ने कहा कि साल 1999 में हुए भारत-पाकिस्तान के बीच करगिल युद्ध के पीछे की वजह कुछ जनरल थे, नाकि पाकिस्तानी सेना। शरीफ ने कहा कि इस दौरान उनके सैनिकों के पास हथियार भी नहीं थे। रैली में लंदन से वीडियो लिंक के जरिए जुड़े नवाज शरीफ ने कहा कि करगिल युद्ध, जिसमें हमारे कई जवानों की मौत हुई और दुनिया के सामने पाकिस्तान बदनाम हुआ, उसके पीछे सेना का हाथ नहीं था, बल्कि कुछ जनरल जिम्मेदार थे। उन्होंने न सिर्फ सेना, बल्कि देश और पूरे समुदाय को यु्द्ध में ऐसी जगह झोंक दिया, जहां से कुछ भी नहीं हासिल हुआ। उन्होंने कहा, ''वह पल मेरे लिए काफी अफसोसजनक था, जब मुझे मालूम हुआ कि हमारे जवानों को बिना भोजन के चोटियों पर भेज दिया गया। यहां तक कि उनके पास हथियार भी नहीं थे। उन्हें अपने जिंदगी से हाथ धोना पड़ा। लेकिन देश और समुदाय को इससे क्या मिला?''

शरीफ ने कहा कि जो जनरल करगिल युद्ध के पीछे थे, उन्होंने अपने कार्यों को छिपाने और सजा से बचने के लिए मार्शल लॉ घोषित कर दिया। परवेज मुशर्रफ और उनके साथियों ने सेना को व्यक्तिगत फायदे के लिए इस्तेमाल किया और उन्हें अपमानित किया। पाकिस्तानी अखबार डॉन के अनुसार, शरीफ ने आगे कहा कि पीडीएम असंवैधानिक शक्ति जिसने पाकिस्तान को अंदर और बाहर से खोखला बना दिया है, उसके खिलाफ खड़ा हुआ है। नवाज शरीफ ने अपने भाषण में पीएल-एन नेता रिटायर्ड कैप्टन मोहम्मद सफदर की गिरफ्तारी का भी जिक्र किया और उसे शर्मनाक करार दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारियों ने कमरे में घुसकर उनकी बेटी मरियम नवाज शरीफ और उनके पति की निजता का उल्लंघन किया। शरीफ ने कहा, ''किसके आदेश पर निजता का उल्लंघन किया गया? अगर प्रांत के मुख्यमंत्री को नहीं पता तो फिर इसके पीछे कौन है?''

'हालात के लिए सेना और आईएसआई जिम्मेदार'
पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने लंदन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रैली को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के मौजूदा हालात के लिए एक बार फिर सेना प्रमुख बाजवा और आईएसआई प्रमुख हमीद को जिम्मेदार ठहराया। शरीफ ने कहा, आपको 2018 के चुनावों में हुई रिकॉर्ड धांधली पर, संसद में हुई खरीद-फरोख्त पर जवाब देना होगा। वहीं, शरीफ की बेटी और पार्टी उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने अपने भाषण में कहा कि पाकिस्तान और बलूचिस्तान के नसीब को बदलने का वक्त आ गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close