अंतरराष्ट्रीय

देश में बढ़ता जा रहा भारतीय-अमेरिकियों का बोलबाला: जो बाइडेन

 वॉशिंगटन 
जो बाइडेन को पद संभाले अभी 50 दिन भी नहीं हुए हैं और इस दौरान उन्होंने कम से कम 55 भारतीय अमेरिकियों को अपने प्रशासन में अहम पदों पर नियुक्त किया है।अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अपने प्रशासन में भारतीय-अमेरिकियों की बड़ी संख्या का हवाला देते हुए कहा कि देश में भारतीय मूल के अमेरिकियों का बोलबाला बढ़ता जा रहा है। मंगल ग्रह पर नासा के Perseverance रोवर के उतरने के बाद इस मिशन से जुड़े वैज्ञानिकों को वर्चुअली संबोधित करने के दौरान जो बाइडेन ने कहा, 'भारतीय मूल के अमेरिकियों का देश पर दबदबा बनता जा रहा है। आप (स्वाति मोहन), मेरी उपराष्ट्रपति (कमला हैरिस), मेरे स्पीच राइटर (विनय रेड्डी)।'

बता दें कि स्वाति मोहन ने ही नासा के मार्स रोवर के मंगल ग्रह पर उतरने में सबसे बड़ी भूमिक निभाई है। वह मार्स Perseverance Rover मिशन यानी मार्स 2020 मिशन की गाइडेंस, नेविगेशन एंड कंट्रोल्स ऑपरेशंस की प्रमुख हैं। नासा का मार्स Perseverance Rover कब कितनी गति से कहां उतरेगा, उसकी दिशा और दशा क्या होगी, वह किस ऊंचाई पर कितनी गति से चलेगा, यह सारा नियंत्रण स्वाति मोहन और उनकी टीम के जिम्मे था। 

इसी साल 20 जनवरी को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेने वाले जो बाइडेन ने कम से कम 55 भारवंशियों को अपने प्रशासन में अहम पदों पर नियुक्त कर के इतिहास रचा है। इनमें उपराष्ट्रपति कमला हैरिस और नीरा टंडन शामिल नहीं हैं। कमला हैरिस जहां चुनाव के जरिए जीतकर आई हैं तो वहीं नीरा टंडन ने दो दिन पहले ही डायरेक्टर ऑफ व्हाइट हाउस ऑफ मैनेजमेंट ऐंड बजट के पद के लिए अपना नामांकन वापस ले लिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button