अंतरराष्ट्रीय

दिल्ली में लोगों की सक्रीय भागीदारी की वजह से इस साल डेंगू के कारण एक भी मौत नहीं हुई : दिल्ली सरकार

 नई दिल्ली
दिल्ली में लोगों की सक्रीय भागीदारी की वजह से दिल्ली में इस साल डेंगू के कारण एक भी मौत नहीं हुई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने सभी निवासियों से इस रविवार को भी अभियान में सक्रीय रूप से शामिल होने की अपील की है। साथ ही, दिल्ली के लोगों का इस साल अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने पर आभार भी व्यक्त किया है। दिल्ली के लोगों ने 2015 में आए 15,867 डेंगू के मामलों को इस साल सफलतापूर्वक डेंगू के मामलों 489 तक लाने में कामयाबी हासिल की है। 2015 में डेंगू से हुई 60 मौतों की तुलना में इस साल डेंगू से एक भी मौतें नहीं हुई है।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डेंगू विरोधी अभियान '10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट' के पिछले सप्ताह में दिल्ली के लोगों को इस अभियान में सक्रीय भागीदारी लेने के लिए बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा, 'प्रत्येक रविवार को 10 हफ्ते 10 बजे 10 मिनट अभियान के तहत घर में एकत्रित स्वच्छ जमा (स्थिर) पानी को बदलें।"
सीएम अरविंद केजरीवाल की अपील पर बच्चों से लेकर आरडब्ल्यूए, व्यापारियों, मशहूर हस्तियों और दिल्ली के निवासियों ने 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट अभियान को सफलता की एक महत्वपूर्ण कहानी बना दिया है।
सीएम अरविंद केजरीवाल ने पिछले रविवार कहा, "डेंगू के खिलाफ चल रही लड़ाई का आज 9वां रविवार है और आज मैंने फिर से अपने घर में इकट्ठा हुए पानी को बदला। दिल्ली में इस साल डेंगू के मामले और भी कम हुए और एक भी मौत नहीं हुई है। 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट, हर रविवार, डेंगू पर वार अभियान की मदद से दिल्ली ने फिर डेंगू को हरा दिया है।"
महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट डेंगू विरोधी अभियान की सराहना करते हुए ट्वीट किया, "ऐसा लगता है कि समाचार का यह एक छोटा सा टुकड़ा है, लेकिन इस तरह के मानव विकास के संकेतक हमारे रोजमर्रा के जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित करते हैं, इस तरह के मील के पत्थर जश्न मानने लायक हैं।"
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने इस साल दिल्ली में डेंगू से संबंधित एक भी मौत नहीं होने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा चलाए जा रहे डेंगू विरोधी अभियान को श्रेय दिया है। उन्होंने कहा, "दिल्ली के लोगों ने यह कर दिखाया है। इस साल डेंगू के कारण कोई भी मौत नहीं हुई है। पिछले साल के आंकड़ों की तुलना में इस साल डेंगू के मामलों में भी भारी कमी आई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अभियान 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट को आप सभी द्वारा सफल बनाया गया है।"
सीएम अरविंद केजरीवाल ने 6 सितंबर को अपने घर में जमा पानी का निरीक्षण कर और उसे खाली करके 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट डेंगू विरोधी अभियान की शुरूआत की थी, ताकि मच्छरों के प्रजनन और अन्य वेक्टर-जनित बीमारियों जैसे डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया को रोका जा सके।
पिछले साल दिल्ली निवासियों, आरडब्ल्यूए, धार्मिक और सांस्कृतिक संगठनों, मंत्रियों, विधायकों और नेताओं व प्रभावशाली लोगों के इसी तरह के सहयोग ने शहर में डेंगू के प्रभाव को कम करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई थी, जिसके कारण पिछले साल सिर्फ 2036 मामले आए थे और दो मौते हुईं थी, जबकि 2015 में 15867 मामले आए थे और 60 मौतें हुई थी। डेंगू विरोधी अभियान के पहले संस्करण की शुरूआत 2019 में की गई थी।
 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button